लड़की को नौकरी दिलाने ले गया अपने साथ, जब बाथरूम में नहाने गई लड़की, तभी अचानक पहुंचा लड़का और...

नौकरी देने के लिये ले गया अपने घर और किया ऐसा काम...

उन्नाव. नौकरी खोजने के लियेे लखनऊ गई युुुवती को धोखे से बुला कर घर लेे गया और नहाते समय उसने उसका वीडियो बना लिया। जिसको दिखाकर लगातार वह उसका शारीरिक शोषण करने लगा। नौकरी के नाम पर प्राइवेट स्थान पर काम दिला दिया। इस बीच युवती को गैर राज्य में पुलिस विभाग में सिपाही की नौकरी मिल गई और वह वहां चली गई। फिर भी दबंग युवक अपनी हरकत से बाज नहीं आया। वह उसे ब्लैकमेल करता रहा। दिल्ली से बुलाकर ब्लैकमेल करता रहा। युवक ने युवती की शादी भी कई बार तुड़वा दी। परेशान होकर किशोरी ने थाना में तहरीर देकर आरोपी युवक के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराया है। थानाध्यक्ष ने बताया कि तहरीर के आधार पर युवक के खिलाफ 376/ 511 IPC की धारा में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। लड़की का मेडिकल नहीं कराया गया है।

 

नौकरी की तलाश में गई थी लखनऊ

मामला लखनऊ जनपद के थाना पारा का है। पारा थानाध्यक्ष ने बताया कि घटना 2011 का है। उन्नाव की रहने वाली किशोरी नौकरी की तलाश में लखनऊ आई थी। जहां उसकी मुलाकात लखनऊ के राम विहार कॉलोनी निवासी अजय से हुई। अजय नौकरी दिलाने के बहाने किशोरी को अपने घर ले गया। उन्होंने बताया कि घर में नहाने के दौरान अजय ने उसकी चोरी-छिपे फोटो खींच ली। वहीं दूसरी तरफ अजय ने एक निजी कंपनी में युवती की नौकरी लगवा दी। बताया जाता है इसके बाद अजय ने युवती को ब्लैकमेल करना शुरू किया। सोशल साइट पर उसकी अश्लील फोटो डालने की धमकी देकर युवती को अपनी हवस का शिकार बनाने लगा।

 

फेसबुक पर फर्जी ID बनाकर पोस्ट कर दी वीडियो क्लिप

इस दौरान उसने वीडियो क्लिप बना लिया। बताया जाता है अजय की हरकतों से परेशान युवती ने उसके मां और चाचा से भी शिकायत की। लेकिन मां-चाचा भी अजय के पक्ष में खड़े हो गए और युवती पर ही चरित्रहीन होने का आरोप लगाने लगे। इसी बीच युवती की गैर राज्य में सिपाही के पद पर नौकरी लग गई। नौकरी के बाद भी अजय ने उसको तंग करना नहीं छोड़ा और वीडियो वायरल करने के बहाने वसूली करने लगा। बताया जाता है लगभग चार लाख की वसूली अजय कर चुका है। सिपाही बनने के बाद युवती की शादी के लिए कई बार लड़के वाले आये, लेकिन अजय ने फर्जी ID से फेसबुक पर अकाउंट खोलकर उसकी वीडियो वायरल कर दी। जिससे उसकी कई बार शादी टूट चुकी है। थानाध्यक्ष पारा ने बताया कि मामला 2011 का है। मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। अभी लड़की का मेडिकल नहीं हुआ है। आगे की कार्रवाई की जा रही है।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned