किसानों द्वारा मतदान बहिष्कार की घोषणा से मचा हड़कंप, मौके पर पहुंचे यूपीएसआईडीसी और प्रशासन के अधिकारी

ट्रांस गंगा सिटी के लिए अधिकृत की गई भूमि के विरोध में किसानों ने मतदान बहिष्कार की घोषणा की थी

By: Narendra Awasthi

Published: 29 Mar 2019, 07:47 PM IST

उन्नाव. ट्रांस गंगा हाईटेक सिटी के लिए अधिकृत की गई भूमि के विरोध में धरना प्रदर्शन दे रहे किसान के द्वारा लोकसभा चुनाव में मतदान के बहिष्कार की घोषणा से हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट व ट्रांस गंगा हाईटेक सिटी के अधिकारियों ने किसान व किसान नेताओं से बातचीत के दौरान इस बात पर दोनों पक्ष में सहमत हुए कि यूपीएसआईडीसी के अधिकारी व जिलाधिकारी के बीच वार्ता होगी। जिस पर निर्णय लिया जाएगा। लेकिन वार्ता में लिए गए निर्णय को गुप्त रखा जाएगा। जिसकी घोषणा चुनाव पश्चात किया जाएगा। इस मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने किसानों से कहा कि आप लोग मतदान का बहिष्कार न करें और अपना बहुमूल्य वोट दें।

 

10 दिन के अंदर निर्णय नहीं लिया जाता है तो बहिष्कार रहेगा जारी

 

किसानों द्वारा मतदान बहिष्कार की घोषणा के बाद नगर मजिस्ट्रेट व यूपीएसआईडीसी के अधिकारी ट्रांस गंगा सिटी के धरना स्थल पर पहुंचे। जहां उन्होंने किसानों को आश्वासन दिया कि उन्हें न्याय दिलाने का काम करेंगे। इस मौके पर दोनों पक्षों में लिखित समझौता भी हुआ। बातचीत के दौरान नगर मजिस्ट्रेट ने किसान नेताओं वह किसानों से कहा कि आप लोग मतदान का बहिष्कार ना करें और मतदान करें। वहीं किसान नेताओं का कहना था कि यदि 10 दिनों के अंदर कोई सार्थक निर्णय नहीं निकलता है तो किसान चुनाव का बहिष्कार जारी रखेंगे और इस दौरान संबंधित गांव में बूथ भी लगने नहीं देंगे। किसान नेताओं ने कहा कि इसके बाद भी अगर बात नहीं बनती है तो रेल रोको आंदोलन भी किया जा सकता है। जिसकी जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी। वार्ता के दौरान किसान नेता मनोज, हीरेंद्र निगम, पुकारे, सुरेश, नाथूराम, महेश्वरी यादव सहित सैकड़ों की संख्या में महिला व पुरुष किसान मौजूद थे।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned