आखिर ऐसा क्या हुआ कि दो सगी बहनों को सीने से लगाकर रोता रहा भाई

उन्नाव में एक ऐसा नजारा देखने को मिला जिसने सभी की आंखों में आंसू ला दिए।

By: Abhishek Gupta

Published: 10 Nov 2017, 05:10 PM IST

उन्नाव. उन्नाव में एक ऐसा नजारा देखने को मिला जिसने सभी की आंखों में आंसू ला दिए। सड़क हादसे का शिकार हुई दो बहनों को अपने सीने से लगाए उसका भाई लगातार रोता जा रहा था। हैरान करने वाली बात ये थी कि हादसे के वक्त भाई भी उनके साथ था, लेकिन भगवान ने उसे जीवन दान दे दिया। राहगीरों ने जब यह मंजर देखा तो उनकी भी आंखे नम हो गई।

मामा की तेरही में शामिल होने के लिये जा रही थी बहनें-

घटना आज शुक्रवार लगभग ग्यारह बजे की है। दोनों सगी बहनें सपना और पप्पी निवासीगण रूस्तमपुर सिकंदरपुर सरोसी कोतवाली सदर अपने भाई राजेश यादव के साथ मामा की तेहरी में शामिल होने के लिये जा रही थी। अभी वह सदर कोतवाली क्षेत्र अन्तर्गत गहरा के पास पहुंची ही थी कि पीछे से आ रहे ट्रक ने उन्हें रौंद दिया। हादसे के बाद भाई राजेश यादव बच गया। परंतु वह सदमें में हैं। वह एक बहन के शव को लिपट कर रोये जा रहा था। घटना की जानकारी अचलगंज थाना क्षेत्र के बंथर पहुंची, जहां कोहराम मच गया। मौके पर बड़ी संख्या में परिजन पहुंच गये, जहां सभी का रो-रोकर बुरा हाल था। घटना को देखकर लोग सिहर गये। प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि भाई राजेश यादव बिलख रहा था। दोनों बहने एक मीटर की दूरी पर पड़ी थीं। पूरी सड़क खून से लाल हो गयी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया।

मीटिंग में शामिल होकर वापस घर जा रहे थे एमआर-

इसी प्रकार की एक अन्य घटना बीती देर रात घटी। लखनऊ से मीटिंग में शामिल होकर वापस आ रहे एमआर कार सवार हिमांशू मिश्रा 22 पुत्र गिरिजा शंकर निवासी यशोदा नगर कानपुर, ब्रजेश साहू 35 पुत्र स्व. इन्द्र पाल साहू निवासी करही बर्रा कानपुर की दर्दनाक मौत हो गयी। जबकि बब्लू गौतम 20 निवासी आटा उरई, करमेन्द्र प्रजापती 35 निवासी कानपुर गंभीर रूप से घायल हो गये। घटना की खबर व्हाट्सग्रूप में रात में ही वायरल हो गयी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया। जबकि कार में फंसे शवों को काफी मश्क्कत के बाद बाहर निकाल पोस्टमार्टम हाउस भेजा। यह घटना भी लखनऊ-कानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग की है। पोस्टमार्टम हाउस में राजेश कुमार ने बताया कि सभी लोग लखनऊ में ग्रेन्टक्योर प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी के लिये काम करते थे। बीती रात भी सभी मीटिंग में शामिल होकर वापस आ रहे थे। जहां रास्ते हीरा गार्डेन के पास दुर्घटना हुयी। पोस्टमार्टम हाउस में काफी संख्या में एमआर व कम्पनी के अधिकारी मौजूद थे। मृतक ब्रजेश साहू कम्पनी का एरिया मैनेजर था।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned