सोशल मीडिया ने मिलाया भाई को उसकी मृतक बहन के बेटे से

Ruchi Sharma

Publish: Sep, 17 2017 06:25:32 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
सोशल मीडिया ने मिलाया भाई को उसकी मृतक बहन के बेटे से

सोशल मीडिया ने मिलाया भाई को उसकी मृतक बहन के बेटे से

ललितपुर. सोशल मीडिया को काफी प्रभावी माना जाता है। सोशल मीडिया की वजह से कई अपने मिले हैं जो कहीं किसी कारण बिछड़ गए थे । ऐसा ही एक मामला सदर कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत जिला अस्पताल में सामने आया है। जहां सोशल मीडिया के माध्यम से एक भाई को अपनी मृतक बहन मिल गई। जिला अस्पताल में मृतक महिला के साथ लगभग एक वर्षीय उसका छोटा बच्चा भी था। जहां बीमार महिला की मौत हो गई थी और उसका बच्चा अनाथों की तरह हो गया था। महिला का नाम पता अज्ञात था, जिस कारण यह मामला और ज्यादा उलझता दिखाई दे रहा था और उक्त पूरा मामला सोशल मीडिया की वजह से सुलझ भी गया

यह था।

पूरा मामला

प्राप्त जानकारी के अनुसार एक महिला गंभीर बीमारी स्थिति में 108 एंबुलेंस द्वारा तालबेहट के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से जिला अस्पताल भेजी गई थी। उसके साथ उसका एक मासूम बच्चा भी था। मगर उसकी मौत अस्पताल में ही हो गई थी।और अब मासूम लगभग एक वर्षीय बच्चा लावारिस की तरह जिला अस्पताल में भर्ती था, क्योंकि उस बच्चे की भी तबियत खराब थी। बताया गया है कि वह बच्चा भी बीमारी से ग्रस्त है। उसकी देखभाल तालबेट से साथ में आई हुई एक महिला कॉन्स्टेबल कर रही थी।


जानकारी मिली थी कि तालबेहट के रेलवे स्टेशन पर एक महिला अचेत अवस्था में आरपीएफ को मिली उसके साथ में लगभग एक माह का एक अबोध बालक भी था । उक्त महिला को सीएससी तालबेहट में भर्ती कराया गया था। जहां उसका नाम परमा लिखा हुआ था मगर पति का नाम व पता कुछ भी नहीं था । उस महिला की हालत गंभीर होने से 108 के द्वारा जिला अस्पताल लाया जा रहा था कि रास्ते में महिला ने दम तोड़ दिया । उस महिला का मासूम बच्चा अब अनाथ हो चुका था और अस्पताल में अपनों का इंतजार कर रहा था कि शायद कोई अपना कहीं से आ जाये और उस बच्चे को ले जाए ताकि उसकी परवरिश अच्छी तरह हो सके ।


वह महिला कहां की थी तालबेहट रेलवे स्टेशन पर कैसे पहुंची इस बात की जानकारी किसी को नहीं है। फिलहाल शव को मोर्चरी में रख दिया गया था। और उस मासूम बच्चे को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कर लिया था । इस बात की सूचना संबंधित अधिकारियों एवं पुलिस को दी गई थी

सोशल मीडिया पर फ़ोटो सहित समाचार डाला गया था

जिला अस्पताल में जब उस मृतक महिला के बारे में खोजबीन जारी थी तभी एक समाचार एजेंसी ने उस महिला तथा बच्चे की फोटो सहित एक समाचार सोशल मीडिया पर प्रकाशित किया था और वह समाचार उसके भाई तक पहुंचा और जब उसने उस समाचार की लिंक को खोल कर फोटो सहित समाचार पढ़ा तो उसे पता चला कि यह तो हमारी बहन है जो हमारे घर से अपनी ससुराल के लिए रवाना हुई थी।

बस फिर क्या था उसके मायके पक्ष के भाई एवं पिता जिला अस्पताल आए और महिला के बारे में पता लगाया उसके भाई ने बताया कि महिला का नाम परम पत्नी मोहन निवासी ग्राम वर्माविहार तालबेहट बताया गया है तथा उसका मायका धौजरी थाना जाखलौन में है।


मृतक महिला के भाई देवीलाल पुत्र रामदयाल ने बताया कि उसकी बहन की तबीयत लगभग तीन-चार दिनों से खराब थी उसे सर्दी जुकाम हुआ था एवं हल्का बुखार भी था वह अपने मायके में थी और वहां से अपनी ससुराल जाने के लिए विगत दिवस छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस से तालबेहट के लिए रवाना हुई थी तालबेहट पहुंचते-पहुंचते उसकी तबीयत अचानक काफी बिगड़ गई और वह बेहोश हो गई। मगर उसकी मौत हो चुकी है। इस बात की जानकारी हमें नहीं थी और ना ही इस बात की जानकारी थी कि उसकी तबीयत खराब है और वह अस्पताल में भर्ती है। बल्कि हम लोग तो यह सोच रहे थे कि वह अपनी ससुराल पहुंच चुकी है।


परिजनों ने पोस्टमार्टम करवाकर कराया अंतिम संस्कार

उसके परिजनों ने जिला अस्पताल में आकर उसका पोस्टमार्टम करवाकर अंतिम संस्कार करवा दिया। एवं वह अपने मासूम बच्चे को अच्छे इलाज के लिए बाहर ले गए हैं। आज वास्तव में सोशल मीडिया की वजह से एक महिला लावारिस की मौत मरने से बच गई और एक मासूम को अपने परिजन मिल गए।

1
Ad Block is Banned