कृषि ऋण माफी योजना के लाभार्थियों को बांटे जाएंगे प्रमाण पत्र

लखनऊ-कानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित नवीन सब्जी मंडी में ऋण मोचन कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है।

By: आलोक पाण्डेय

Published: 11 Sep 2017, 06:01 PM IST

उन्नाव, लखनऊ-कानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित नवीन सब्जी मंडी में ऋण मोचन कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है।  जिसमें पांच हजार किसानों को ऋण माफी का  प्रमाण पत्र दिया जाएगा। जबकि पहले चरण में कुल बीस हजार से ज्यादा किसानों को योजना अन्तर्गत लाभ मिलेगा। जिसके लिये बाद में कार्यक्रम का आयोजन किये जाने की योजना है।

जिला कृषि अधिकारी अतींद्र सिंह ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि जनपद के विभिन्न विधानसभाओं से 90 बसों के माध्यम से किसानों को नवीन सब्जी मंडी तक  लाया जा रहा है। जिसके माध्यम से किसानों को नवीन सब्जी मंडी तक लाकर प्रमाण पत्र दिया जाएगा और कर्ज माफ की राहत पहुंचाई जाएगी। इस मौके पर जनपद प्रभारी, मंत्री के साथ क्षेत्रीय विधायक व सांसद भी मौजूद रहेंगे। परंतु तस्वीर का दूसरा रूप  कुछ और ही बयां करता है। परंतु एक पक्ष को लाभ पहुंचाने के लिए दूसरे पक्ष का खयाल नहीं रखा गया और सब नवीन सब्जी मंडी में कार्य करने वाले सब्जी व्यापारी जिनकी संख्या हजार में है। इसके अतिरिक्त ट्रांसपोर्ट व अन्य लोग भी नवीन सब्जी मंडी से जुड़े हैं। वहां विगत 8 सितंबर को दोपहर से नोएंट्री का बोर्ड लगा दिया गया और मुख्य गेट को बंद कर दिया गया था। 

पांच हजार किसानों को दिया जाएगा प्रमाण पत्र

जिला कृषि अधिकारी अतींद्र सिंह ने बताया कि सरकार की ऋण माफी योजना के अंतर्गत आज 11 सितंबर को ऋण माफी का प्रमाण पत्र किसानों को दिया जाएगा। आज कुल पांच हजार किसानों को प्रमाण पत्र दिया जाएगा| जिन्हें क्षेत्र से लाने के लिए बसों की व्यवस्था की गई है जिसकी जिम्मेदारी उप संभागीय परिवहन अधिकारी के पास है| ऋण मोचन योजना के अंतर्गत कर्ज माफ करने का प्रमाण पत्र जनपद प्रभारी कैबिनेट मंत्री रमापति शास्त्री के द्वारा दिया जाएगा|  इसके अलावा कार्यक्रम में  क्षेत्रीय विधायक  व सांसद भी मौजूद रहेंगे।

उन्होंने बताया कि किसानों के न्यूनतम एक रुपए से तीन लाख रुपए तक का कर्ज माफ होगा। जिसके लिए बैंकिंग सिस्टम में 12 फिल्टर बनाए गए हैं जिसके माध्यम से कर्ज माफी के योग्य किसानों का  चुनाव किया जा रहा है। इन 12 फिल्टर में सबसे बड़ी शर्त यह है कि केवल क्रॉप लोन ही माफ किया जाएगा। इसके साथ ही  किसानों के तीन लाख रुपए तक के ऋण में एक लाख रूपए का कर्ज माफ किया जाएगा इसके अलावा जिन किसानों के पास 2 हेक्टेयर से ज्यादा जमीन है। उनका लोन माफ नहीं किया जाएगा। इस तरह से 12 फिल्टर से निकलने के बाद  किसान कृषि ऋण माफी योजना का लाभ प्राप्त कर पा रहे हैं।उन्होंने बताया कि अब तक लगभग  16 हजार किसानों के बैंक अकाउंट आधार से नहीं जुड़े हैं। जिनके भी अकाउंट आधार कार्ड से जुड़वाने का प्रयास किया जा रहा है।

सरकारी योजनाओं के लाभ एक बार फिर ईमानदारी से कर्ज अदा करने वालों को नहीं मिल रहा है। जिन्होंने मेहनत करके पेट काटकर बैंक का लोन अदा कर दिया है। इस संबंध में बातचीत करते हुए सरोसी विकासखंड के किसान राजेंद्र कुमार ने बताया कि नुकसान और फायदा सभी किसानों का एक तरफ से हुआ है। सूखा पड़ा है तो सबके लिए यदि अत्यधिक वर्षा हुई है तो भी सभी किसान नुकसान में रहे हैं। ऐसे में हम लोगों ने किसी प्रकार पेट काटकर बैंक का कर्ज अदा किया। परंतु शासन द्वारा उन लोगों को कोई मदद नहीं दी जा रही है। उन्होंने कहा कि यदि शासन को देना ही है तो एक तरफ से सभी किसानों को इसका लाभ मिलना चाहिए। वरना भविष्य में जान बूझकर लोग बैंक लोन अदा नहीं करेंगे|

सब्जी मंडी में व्यापारियों के लिए लगाई गई नो इंट्री

बनी बनाई व्यवस्था के लालच मैं जिला प्रशासन ने नवीन सब्जी मंडी को विगत 8 मार्च से सब्जी व्यापारियों के लिए बंद कर दिया है। इस संबंध में बातचीत करने पर सब्जी व्यापारी रामचंद्र ने बताया कि  8 तारीख को दोपहर के बाद से उन्हें अंदर घुसने नहीं दिया गया है। गेट बंद कर दिया गया है। जिससे उन लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा और व्यापार में भी नुकसान हुआ है।  एक अनुमान के मुताबिक रोजाना  लाखों रुपए का व्यापार नवीन सब्जी मंडी से होता है और हजारों लोग प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप में यहां से रोजी रोटी कमाते हैं लेकिन जिला प्रशासन की अदूरदर्शिता के कारण सब्जी व्यापारियों को विगत 3 दिनों से आर्थिक रुप से नुकसान उठाना पड़ रहा है जिससे सब्जी विक्रेताओं में रोष है। इस संबंध में बातचीत करने पर जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि नवीन सब्जी मंडी में पर्याप्त स्थान होने के कारण चुनाव किया गया है। जहां एक साथ 90 बसों को खड़ी करने की व्यवस्था बनाई जा सकती है। व्यापारियों के नुकसान पर उन्होंने चुप्पी साध ली।

 

आलोक पाण्डेय
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned