इस लेडी ऑफिसर ने जब पूछा- क्यों भाग जाते हो पतली गली से, तो फिर...

चेकिंग के दौरान पकड़े जाने पर 60-70% लोग सबसे पहले बताते हैं कि वह मिट्टी में जा रहे हैं...

उन्नाव. आज युवा वर्ग जब स्कूल से निकल कर नया-नया कॉलेज में प्रवेश करता है, तो वह सोचता है कॉलेज जा कर यह करेंगे वह करेंगे। लेकिन इस बीच हम बहुत कुछ भूल जाते हैं। इस दौरान हम कई गलत चीजों में सम्मिलित हो जाते हैं। जिसकी वजह से आप परेशानी में पड़ जाते हैं और दुर्घटनाओं का भी शिकार हो जाते हैं। कॉलेज में आपको गलत काम करने के लिए लोग कहते हैं और आप बिना सोचे समझे उसे करने के लिए बहुत जल्द तैयार हो जाते हैं। जो कि गलत है। स्थानीय कॉलेज मैं आयोजित यातायात माह के अंतर्गत जन जागरूकता कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उक्त विचार क्षेत्राधिकारी रुचि गुप्ता ने व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि आशा है आप लोग इस तरह की चीजों से बचेंगे।

 

अनावश्यक प्रेशर बनाने का प्रयास करते

उन्होंने कहा कि उन्नाव में हमने देखा है की चेकिंग के दौरान आप लोग पतली गली से बच कर निकलने की कोशिश करते हैं या फिर जब फंस जाते हैं तो किसी ना किसी को फोन लगाने की कोशिश करते हैं। हम पर प्रेशर बनाने का प्रयास किया जाता है। रुचि गुप्ता ने कहा कि लोग इस चीज को नहीं समझते हैं कि हम लोगों का चेकिंग लगाने का उद्देश्य क्या होता है। उन्होंने कहा कि हमारा कोई व्यक्तिगत उद्देश्य नहीं होता है। हमारा उद्देश्य रहता है कि आप लोग सोसाइटी में कुछ अच्छा काम कर सके। वही लोगों की भी इस बात का एहसास होता है और याद रखेंगे कि हमारा पिछली बार चालान हुआ था। उसमे पैसे खर्च हुए थे। अब ऐसा नहीं होना चाहिए। इस बार कुछ और चीज से कंप्रोमाइज करना पड़ेगा। जुर्माना भी कोई विशेष ज्यादा नहीं होता है। यह केवल एक संदेश मात्र है।

 

फिल्मों में सुरक्षा व्यवस्था के साथ होता है स्टंट

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रभारी यातायात राजेंद्र सिंह ने कहां कि जब हम लोग चेकिंग करते हैं तो आप लोग साइड से बचकर निकलने का प्रयास करते हैं। इसकी कोई आवश्यकता नहीं है। आप आइए और अपनी गलती मानिए कि भविष्य में हम यह गलती नहीं करेंगे। यदि आप ऐसा करेंगे तो आपका जीवन सफल हो जाएगा। उन्होंने कहा बच्चे मोटरसाइकिल में स्टंट करते हैं जो कभी ना करें। इससे दुर्घटना हो सकती है। हां कुछ भी हो सकता है। फिल्मों में देखकर जो स्टंट करते हैं। उनको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि फिल्म के नीचे एक सूचना पट्टी चलती है। जिसमें या लिखा होता है कि यह स्टंट स्वयं ना करें। यह सुरक्षा उपाय के साथ किया जाता है।

 

60 - 70 प्रतिशत लोग झूठ बोल कर निकलते हैं

यातायात प्रभारी ने बताया कि उन्नाव एक छोटा शहर है। आप लोग हेलमेट लगा कर चला करें। उन्होंने बताया कि चेकिंग के दौरान पकड़े जाने पर 60-70% लोग सबसे पहले बताते हैं कि वह मिट्टी में जा रहे हैं, या कोई बीमार हो गया या मर गया। इस तरह की झूठी बातें बोलकर निकलने का प्रयास करते हैं। इस मौके पर छात्र छात्राओं को यातायात के नियमों का पालन करने के संबंध में शपथ दिलाई गई और स्वयं के साथ रिश्तेदारों को यातायात के नियमों के विषय में जागरूक करेंगे। इस मौके पर हेड कांस्टेबल राजेश सिंह, यूनुस ने दुर्घटनाओं से कैसे बचे के विषय में जानकारी दी। इस अवसर पर विद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर मानवेंद्र सिंह, डॉ रेखा सक्सेना, डॉ सुनील कुमार वर्मा, डॉ विपिन सिंह, डॉ रंजीत सिंह, जुगेश कुमार, राकेश चतुर्वेदी सहित बड़ी संख्या में कॉलेज की छात्र छात्राएं मौजूद थी।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned