महिला ने दबंगों की शिकायत जिलाधिकारी से की, जाने फिर क्या हुआ

- स्थानीय स्तर पर फरियादियों को नहीं मिलता न्याय

- मुख्यालय के चक्कर लगाने को मजबूर

By: Narendra Awasthi

Published: 24 Feb 2021, 11:19 PM IST

उन्नाव. प्रदेश में महिलाओं व किशोरियों की सुरक्षा, सम्मान, स्वावलंबन हेतु मिशन शक्ति अभियान के अंतर्गत आज शाम हक की बात जिला अधिकारी के साथ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें टेलीफोन पर महिलाओं ने अपनी समस्या को जिला अधिकारी के सामने रखा जिलाधिकारी ने भी तत्काल समस्याओं के समाधान का निर्देश दिया।

आपकी बात जिलाधिकारी के साथ

आज शाम जिलाधिकारी रवींद्र कुमार ’’हक की बात जिलाधिकारी के साथ’’ कार्यक्रम में उपस्थित हुए। इस मौके पर महिलाओं द्वारा दूरभाष पर यौन हिंसा, लैंगिक असमानता, घरेलू हिंसा, दहेज हिंसा, कन्या भ्रूण हत्या, कार्यस्थल पर लैगिंक हिंसा सम्बन्धी शिकायतो के सम्बन्ध में संरक्षण, सुरक्षा तंत्र, सुझावों, सहायताओं हेतु पारस्परिक संवाद किया गया। कार्यक्रम में 13 महिलाओं एवं बालिकाओं द्वारा जिलाधिकारी से दूरभाष पर वार्ता कर शिकायतें दर्ज करायी गई।

महिलाओं ने डीएम से लगाई फरियाद

जिनमें से छः महिलाओं द्वारा घरेलू हिंसा की शिकायत की गई। जिसमें थाना कोतवाली के 3, एफ-84 के 1, पुरवा के 1 व बांगरमऊ के 1 शिकायत थी। चार महिलाओं द्वारा आवाास संबंधी शिकायत की गई। जिसमें विकास खण्ड सुमेरपुर, बीघापुर, बिछिया व बांगरमऊ किसे कहते थे जबकि 2 महिलाओं ने शौचालय की शिकायत की जो विकासखंड सुमेरपुर और बांगरमऊ की रहने वाली थी। एक महिला निवासी थाना अजगैन को दबंगों द्वारा उत्पीड़ित किया जा रहा था। जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को उक्त शिकायतों पर तत्काल कार्यवाही कर निस्तारित किये जाने हेतु निर्देशित किया गया है। कार्यक्रम में उपनिदेशक सूचना, रेनू यादव जिला प्रोबेशन अधिकारी, प्रीती महिला कल्याण अधिकारी, शिल्पा शिरोमणि जिला समन्वयक आदि उपस्थित थे।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned