कोविड-19 दिल्ली के निजामुद्दीन मस्जिद से आधा दर्जन से ज्यादा जमाती के उन्नाव आने का खुलासा

- 9 मार्च को उत्तराखंड होते हुए दिल्ली के निजामुद्दीन गया था

- 13 मार्च को कानपुर से सदर कोतवाली होते हुए अपने गांव गया

By: Narendra Awasthi

Updated: 18 Apr 2020, 05:24 PM IST

उन्नाव. कोविड-19 को लेकर देश में तहलका मचाने वाले दिल्ली के निजामुद्दीन मस्जिद में जनपद से जाने वाले जमात के लोगों को पुलिस खोज कर बाहर निकाल रही है। इसी क्रम में आज जनपद के आधा दर्जन से ज्यादा लोगों के नाम सामने आए हैं। जो दिल्ली के निजामुद्दीन मस्जिद तबलीगी जमात में शामिल होने के लिए गए था। जहां से विगत 13 मार्च को कानपुर होते हुए उन्नाव पहुंचा। सदर कोतवाली क्षेत्र में लगभग 25 दिन रुकने के बाद जमाती अपने गांव चला गया। मामला खुलने के बाद एक बार फिर जनपद में हड़कंप मचा हुआ है। उपजिलाधिकारी ने जिलाधिकारी को लिखे पत्र में घटना की जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस ने एक जमाती को उपचार के लिए जिला अस्पताल लेकर आई है। अन्य जमाती सदर कोतवाली क्षेत्र के रहने वाले हैं। जिन्हें वहां से लाकर आइसोलेट किया जाना आवश्यक है। उप जिलाधिकारी ने बताया कि पूरे घटनाक्रम की जानकारी जिलाधिकारी को दे दी गई है और जमात को जिला अस्पताल आइसोलेट किया गया है।

 

उप जिलाधिकारी ने जिलाधिकारी को लिखा पत्र

दिल्ली के निजामुद्दीन मजार में जमाती के रूप में शामिल हुए लोगों के सामने आने का सिलसिला जारी है। उप जिलाधिकारी दयाशंकर ने जिलाधिकारी को लिखे पत्र में बताया है कि आज बारा सगवर थाना अंतर्गत ऊँचगांव निवासी इरफान पुत्र जहूर मोहम्मद दिल्ली निजामुद्दीन मस्जिद में जमात में शामिल होने के लिए गया था। उन्होंने बताया कि इरफान विगत 9 मार्च को उन्नाव से उत्तराखंड के लिए गया था। जहां से विगत 11 मार्च को निजामुद्दीन मजार दिल्ली गया था। विगत 13 मार्च को इरफान दिल्ली से कानपुर होते हुए उन्नाव सदर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला आदर्श नगर में आकर रुका था। जिसके बाद विगत 9 अप्रैल को वह अपने गांव ऊँचगांव थाना बारासगवर घर आ गया। उपजिलाधिकारी के अनुसार इरफान मोहम्मद ने बताया कि उसके साथ आबिद पुत्र आशिक अली, सद्दाम पुत्र छोटक्के, नदीम पुत्र बबलू, अजीम पुत्र बबलू निवासी गण अकरमपुर मगरवारा थाना सदर कोतवाली भी निजामुद्दीन गया था। इसके अतिरिक्त दो अन्य लोगों के नाम में नहीं बता पाया। उपजिलाधिकारी द्वारा जिलाधिकारी को लिखे पत्र में बताया गया है कि इरफान मोहम्मद को चिकित्सीय प्रशिक्षण परीक्षण हेतु जिला चिकित्सालय भेजा गया है। शेष अन्य जमाती सदर तहसील व कोतवाली क्षेत्र के रहने वाले हैं। उप जिलाधिकारी दयाशंकर ने पुलिस अधीक्षक, अपर जिलाधिकारी, उप जिलाधिकारी सदर को भी उपरोक्त पत्र की प्रतिलिपि भेजी है।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned