देवर-भाभी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत पर चर्चाओं का बाजार गर्म, परिजनों ने कहा डेंगू से हुयी मौत,

देवर-भाभी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत पर चर्चाओं का बाजार गर्म, परिजनों ने कहा डेंगू से हुयी मौत,

Narendra Nath Awasthi | Publish: Sep, 16 2018 09:05:48 AM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 09:05:49 AM (IST) Unnao, Uttar Pradesh, India

देवर की लखनऊ ट्रामा सेंटर ले जाते समय रास्ते में तो भाभी ने उपचार के दौरान तोड़ा दम, मृतक गोवा का था गोवा से संबंध

 

 


उन्नाव. देवर भाभी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गयी। खबर जैसे ही सामने आयी जंगल में आग की तरह फैल गयी। गांव में हड़कंप मच गया। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने परिजनों व गांव वालों से बात की। गांव प्रधान ने बताया कि दोनों की मौत डेंगू से हुयी वहीं गांव में चर्चा कुछ और ही जानकारी दे रही है। देर शाम हुयी घटना के बाद गांव में चर्चा का बाजार गर्म है। इस संबंध में थानाध्यक्ष ने बताया कि अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली है। चुंकि मौत लखनऊ में हुयी है इसलिये पोस्टमार्टम की कानूनी प्रक्रिया लखनऊ में ही होगी। उन्होने बताया कि शिकायत मिलने पर आगे की कार्यवाही की जायेगी।

 

मामला हसनगंज थाना क्षेत्र के गांव दुबेगढ़ी का

मामला हसनगंज थाना क्षेत्र के गांव दुबेगढी का है। उक्त गांव निवासी छोटा सिंह 27 पुत्र पुत्ती लाल व वंदना 30 पत्नी देशा सिंह की अचानक तबियत बिगड़ने पर लखनऊ के ट्रामा सेंटर ले जाया जा रहा था। जहां रास्ते में ही छोटा सिंह की मौत हो गयीं। जबकि वंदना की उपचार के दौरान ट्रामा सेंटर में मौत हो गयी। इस संबंध में बातचीत करने पर ग्राम प्रधान कल्लू सिंह ने बताया कि छोटा सिंह और वंदना दोनो डेंगू से पीड़ित थे। जिससे उनकी मौत हो गयी। जबकि गांव में चर्चा है कि दोनों ने जहरीला पदार्थ खा लिया। जिसके कारण स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र न ले जाकर लखनऊ ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया।

 

चार बेटों में तीसरे नम्बर पर था मृतक

परिजनों के अनुसार पुत्तीलाल के चार बेटों में वंदना की शादी पांच वर्ष पूर्व देशा सिंह के साथ हुयी थी। जों गांव में मजदूरी का काम करता है। जबकि छोटा सिंह गोवा में प्राइवेट नौकरी करता था। लगभग बीस दिन पूर्व वह गोवा से घर आया था। जबकि वंदना सिंह की शादी को पांच साल हुये थे। परंतु कोई संतान नहीं थी। इस संबंध में बातचीत करने पर थानाध्यक्ष हसनगंज ने बताया कि छोटा सिंह और वंदना सिंह की हालत बिगड़ने पर परिजन लेकर लखनऊ चले गये। जहां छोटा सिंह की रास्ते में व वंदना की ट्रामा सेंटर में मौत हो गयी। दोनों के शव लखनऊ में है वहीं कागजी कार्यवाही होगी। किसी प्रकार की शिकायत आने पर जांच करायी जायेगी।

Ad Block is Banned