मुख्यमंत्री से लॉकडाउन के दौरान शिक्षा सत्र शून्य करने की मांग

- स्कूल बंद रहने के समय तक की सम्पूर्ण फीस माफ करने की मांग

By: Narendra Awasthi

Updated: 27 Jul 2020, 09:10 PM IST

उन्नाव. ऑनलाइन शिक्षा का शुल्क एक तिहाई किया जाए और इसे प्रदेश भर के लिए स्कूलों के लिए बराबर रखा जाए। राज्य सरकार इस संबंध में गजट कराएं। जिससे बच्चों में कुप्रभाव डाल रहा है। कक्षा 5 तक आँनलाइन क्लासेस बंद किये जाये। हिंदू जागरण मंच के प्रांतीय मंत्री व प्रभारी विमल द्विवेदी ने मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को दिया। जिसमें उन्होंने उपरोक्त मांग की है। उन्होंने कहा कि बच्चों पर कुपोषण और दुर्बलता का प्रभाव ऑनलाइन शिक्षा के माध्यम से पड़ रहा है। प्रदर्शन और ज्ञापन देने के दौरान बड़ी संख्या में मातृ शक्ति के साथ अभिभावक संघ के जिला अध्यक्ष भी मौजूद थे।

 

बच्चों और अभिभावकों में भय व्याप्त

हिंदू जागरण मंच के प्रांतीय मंत्री व प्रभारी ने बताया कि स्कूलों की मनमानी के कारण बच्चों और अभिभावकों में भय व्याप्त है। ट्यूशन फीस के नाम पर अन्य मदों की भी वसूली बड़े पैमाने पर की जा रही है। जिनका उपयोग स्कूल बंद के दौरान नहीं होता है। उन्होंने स्कूलों द्वारा ली गई थी स्कोर तत्काल वापस कराने की मांग की है साथ ही अभिभावकों पर दबाव बनाने व शासन आदेश की अवहेलना करने वाले निजी विद्यालयों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई करने की मांग की। इस मौके पर अभिभावक संघ अधिवक्ता संघ सहित कई सामाजिक संगठनों की तरफ से मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को दिया गया। जिसमें कोरोना संकट काल के दौरान बंद चल रहे स्कूलों की संपूर्ण फीस माफ करने करने के साथ महामारी के बढ़ते प्रकोप बच्चों के स्वास्थ्य को दृष्टिगत रखते हुए शिक्षा सत्र शून्य किया जाये।

#NO_SCHOOL_NO_FEES

उन्होंने बताया कि हिंदू जागरण मंच द्वारा #NO_SCHOOL_NO_FEES की मुहिम पिछले एक माह से चलायी जा रही है। उपरोक्त हस्ताक्षर अभियान में अधिवक्ताओं, सामाजिक संगठन सहित हजारों अभिभावकों द्वारा हस्ताक्षर किया गया था। कोरोना संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए जिला प्रशासन ने सप्ताह में 4 दिन व्यापारिक प्रतिष्ठान को पूर्णता बंद करने के निर्देश जारी किए गए हैं। गरीब, मजदूर, किसान, व्यापारियों सहित आमजनमानस पर रोजी-रोजगार का संकट चल रहा है। प्रदेश भर के निजी स्कूल पिछले तीन महीनों से बंद है। स्कूल फीस ना देने पर बच्चों को नाम काट देने की धमकी दी जा रही है अभिभावक मानसिक रूप से परेशान हैं।

 

ज्ञापन देने वालो में मंच के जिलाध्यक्ष अजय त्रिवेदी, अभिभावक संघ के अध्यक्ष सुनीत तिवारी, वेटरन्स इंडिया के अध्यक्ष ए.के.दीक्षित, नगर अध्यक्ष विकास सिंह सेंगर, धर्मेन्द्र शुक्ला, मनीष अवस्थी, शिवसेवक त्रिपाठी, शिवम् आजाद, अंशू शुक्ला, जयशिव अवस्थी, अखिल मिश्रा, मनीष पाण्डेय रत्नेश शुक्ला, उमा शुक्ला, गीता तिवारी, नीतू मिश्रा, अंशू मिश्रा, प्रतिमा गुप्ता, बिन्नू गुप्ता, संजय सिंह, संजय गुप्ता, अलोक द्विवेदी, रागनी निगम ,साधना दीक्षित ,रेनू तिवारी ,आर के मिश्रा, दीपक तिवारी, अभिजीत अवस्थी सामाजिक संगठन के पदाधिकारी, अभिभावक मौजूद थे।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned