पैसे के लेनदेन में विवाद, ढाबा संचालक व उसके साथियों की पिटाई से कानपुर निवासी की मौत, दो घायल

- मृतक कानपुर निवासी, सिपाही में हुआ था चयन

- 6 अक्टूबर से शुरू होने वाली थी ट्रेनिंग

By: Narendra Awasthi

Published: 17 Sep 2020, 09:42 AM IST

उन्नाव. ढाबे पर खाना खाने आए युवक पर ढाबा संचालक और उसके साथी लाठी-डंडों व लोहे की रॉड से हमला बोल दिया। जिससे तीन साथी गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे दो अन्य साथियों ने घायल दोस्तों को लेकर कानपुर के रामादेवी स्थित प्राइवेट नर्सिंग होम ले गए। जहां उपचार के दौरान एक की मौत हो गई। दो की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है। विगत 13 सितंबर को हुई घटना की जानकारी तब हुई जब बुधवार की सुबह एक की मौत पर कानपुर के पोस्टमार्टम हाउस में हंगामा हुआ। जिसके बाद थाना पुलिस सक्रिय हुई और ढाबा संचालक सहित पांच लोगों को हिरासत में ले लिया। उल्लेखनीय है घटनास्थल से चंद कदम की दूरी पर पुलिस पिकेट ड्यूटी पर तैनात रहती है। लेकिन वह मूक दर्शक की भांति देखती रही।

 

अचलगंज थाना क्षेत्र की घटना

घटना अचलगंज थाना क्षेत्र की है। सुमित (23) पुत्र बृजेश सिंह अपने दोस्त संग्राम, शुभम सिंह, उत्कर्ष साहू, शुभम सेंगर निवासी कोयला नगर कानपुर, मंजुल निवासी सैनिक चौराहा कानपुर के साथ बदरका मोड़ स्थित ढाबे पर नाश्ता करने के लिए पहुंच गए। उत्कर्ष, शुभम सिंह व सुमित कार खड़ी करके ढाबे में समोसा गुजिया खाने चले गए। इस संबंध में मंजुल ने बताया कि ढाबे वाले ने हिसाब में ₹35 ज्यादा मांगे। जिसे लेकर दोनों पक्षों में विवाद हो गया। विवाद इतना बड़ा कि ढाबा संचालक और उसके साथियों ने लाठी-डंडे, लोहे की राड से तीनों की पिटाई शुरू कर दी। सर पर चोट लगने से तीनों गंभीर रूप से घायल होकर गिर पड़े। मंजुल ने बताया कि शुभम सेंगर के सहयोग से तीनों घायलों को लेकर रामादेवी प्राइवेट नर्सिंग होम में उपचार के लिए भर्ती कराया। जहां बुधवार की सुबह सुमित की मौत हो गई। पीड़ित परिवार ने अचलगंज थाना में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। इस संबंध में थानाध्यक्ष अचलगंज अतुल तिवारी ने बताया कि पूछताछ के लिए 5 लोगों को लाया गया है। गौरतलब है मृतक सुमित का चयन सिपाही में हो गया था और 6 अक्टूबर से उसकी ट्रेनिंग शुरू होने वाली थी।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned