scriptDolls beating on the day of Nagpanchami, why | नागपंचमी में गुड़िया की पिटाई क्यों होती है, यह है कारण | Patrika News

नागपंचमी में गुड़िया की पिटाई क्यों होती है, यह है कारण

- भाई को बचाने के लिए बहन ने नाग की पीटकर हत्या कर दी थी

उन्नाव

Updated: August 14, 2021 08:32:35 pm

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

उन्नाव. नाग पंचमी को गुड़िया त्यौहार भी कहा जाता है। इस दिन पुराने कपड़ों से बनाई हुई गुड़िया की पिटाई होती है। लड़के लड़कियों द्वारा फेंके गए गुड़िया को पीटते हैं। गुड़िया पीटने की परंपरा काफी पुरानी है। इसकी कहानी भी काफी पुरानी है। कानपुर से सटे शंकरपुर सराय गांव में बहनों द्वारा फेंकी गई गुड़ियों को भाइयों ने पीटा। वहीं शहर में भी इसी प्रकार का माहौल देखने को मिला। सबसे बड़ी बात इन गुड़ियों को पुराने कपड़ों से बनाया जाता है और डंडों से इनकी पिटाई होती है।

नागपंचमी में गुड़िया की पिटाई क्यों होती है, यह है कारण
नागपंचमी में गुड़िया की पिटाई क्यों होती है, यह है कारण
यह भी पढ़ें

छात्र ने डीएम को व्हाट्सएप मैसेज कर मदद की लगाई गुहार, बोला जिंदगी भर एहसान मानूंगा, डीएम ने नहीं किया निराश

वरिष्ठ ज्योतिषाचार्य शंकर दयाल त्रिवेदी ने दी जानकारी

वरिष्ठ ज्योतिषाचार्य शंकर दयाल त्रिवेदी ने कहा कि भाई को नाग से बचाने के लिए बहन ने सांप को मार डाला था। जब यह बात उसने अपने भाई को बताई तो भाई क्रोधित होकर बहन की पिटाई की। क्योंकि भाई को यह राज की बात मालूम था कि तक्षक नाग के काटने से परीक्षित की मृत्यु हो गई थी। उसकी बहन परीक्षित राज्य की चौथी पीढ़ी से संबंधित है। जबकि भाई तक्षक नाग की चौथी पीढ़ी के वंशज थे। इसलिए भाई ने बहन को पीटा। जिससे यह परंपरा चली आ रही है कि नाग पंचमी के दिन गुड़िया की पिटाई होती है। इसे गुड़ियों का त्यौहार भी कहते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Azadi Ka Amrit Mahotsav में बोले पीएम मोदी- ये ज्ञान, शोध और इनोवेशन का वक्तभारत ने ओडिशा तट से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफलतापूर्वक किया परीक्षणNEET UG PG Counselling 2021: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- नीट में OBC आरक्षण देने का फैसला सही, सामाजिक न्‍याय के लिए आरक्षण जरूरीटोंगा ज्वालामुखी विस्फोट का भारत पर भी पड़ सकता है प्रभाव! जानिए सबसे पहले कहां दिखा असरCorona cases in India: कोरोना ने तोड़ा 8 महीने का रिकॉर्ड; 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा कोरोना के नए केस, मौत का आंकड़ा 450 के पारUttar Pradesh Assembly Elections 2022: भीषण शीतलहरी में पूर्वांचल हुआ गर्म, दो मुख्यमंत्रियों के चुनावी मैदान में उतरने की आस ने बढ़ाई सरगर्मीप्रियंका गांधी ने जारी की कांग्रेस की दूसरी लिस्ट, 41 उम्मीदवारों के नाम फाइनल, 16 महिलाओं को भी दिया टिकटUP Election 2022 : आजम खान को याद कर मंच पर ही फफक-फफक कर रोने लगे बेटे अब्दुल्ला आजम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.