अधिकारी ने महिला से कहा - पीएम आवास दिला दूंगा, फिर रात में घर पर रोक कर महिला के साथ कर दिया..

प्रमाण पत्र देने के बहाने घर बुला ले गया, रात में किया दुष्कर्म.

By: Abhishek Gupta

Published: 18 May 2018, 09:31 PM IST

उन्नाव. महिलाओं के साथ दुष्कर्म के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। ताजा मामला उस समय सामने आया जब प्रधानमंत्री आवास दिलाने के नाम पर महिला ने ग्राम पंचायत विकास अधिकारी के ऊपर छेड़छाड़ और दुष्कर्म का आरोप लगाया। पीड़िता के परिजनों ने उप जिलाधिकारी से मिलकर न्याय की गुहार लगाई। उप जिलाधिकारी के आदेश पर ग्राम विकास अधिकारी के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। वहीं इस घटना के बाद ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों में रोष व्याप्त है। उनका कहना है कि साजिशन पीड़ित महिला ने ग्राम पंचायत विकास अधिकारी के खिलाफ दुष्कर्म का मामला पंजीकृत कराया है। ज्ञापन देकर उन्होंने जांच की मांग की।

प्रमाण पत्र देने के बहाने घर बुला ले गया, रात में किया दुष्कर्म-

मामला मौरावा थाना क्षेत्र विकासखंड हिलौली का है। पीड़ित महिला ने बताया कि ग्राम पंचायत विकास अधिकारी प्रमाण पत्र देने के नाम पर काफी देर तक विकास खंड कार्यालय में रोके रखा। इस बीच शाम होने पर उसने कहा चलो घर पर बना कर देते हैं। पीड़िता ने बताया कि इस बीच ग्राम पंचायत विकास ने कहा कि तुम्‍हारे पास घर नहीं हैं। तुमको प्रधानमंत्री आवास दिला देंगें। अंधेरा होने पर उसने कहा कि यहीं रूक जाओ कल चली जाना। प्रमाण पत्र भी बना देंगें। पीड़िता ने बताया कि अंधेरा होने पर मेरे साथ पहले छेडछाड़ की और फिर दुष्कर्म भी किया। इस संबंध में पीड़िता ने उप जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है। उप जिलाधिकारी के आदेश पर मौरावा थाना में ग्राम पंचायत विकास अधिकारी के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। थानाध्यक्ष ने बताया कि विवेचना के बाद कार्रवाई की जाएगी। ग्राम पंचायत विकास अधिकारी को निलंबित कर दिया गया।

उप जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर जांच की मांग की-

वही ग्राम पंचायत विकास अधिकारी के निलंबन के बाद ब्लाक कर्मचारियों में रोष व्याप्त है। विकास खंड कार्यालय में बैठक करते ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों ने विचार विमर्श किया। उनका कहना था कि पीड़ित महिला ने फर्जी 376 का मुकदमा पंजीकृत कराया है और शासन ने भी बिना स्पष्टीकरण के निलंबन की कार्रवाई कर दी है। निलंबन की कार्रवाई से हिलौली विकासखंड के कर्मचारियों में रोष व्याप्त है। उन्होंने जिला प्रशासन से निलंबन की कार्रवाई वापस लेने की मांग की है। ग्राम पंचायत विकास अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही से ब्लॉक में हड़कंप मचा है। ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों में बैठक करके उप जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर निलंबन की कार्यवाही को वापस लेने की मांग की है।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned