दुश्मन देश में अपनी पहचान छुपाने का कार्य कोई अभिनंदन नहीं कर सकता

अभिनंदन के बहादुरी के किस्से सभी के जवान पर, साथ ही केंद्र की मोदी सरकार की का भी हो रहा गुणगान

By: Narendra Awasthi

Published: 02 Mar 2019, 08:48 PM IST

उन्नाव. अंतत: और पाकिस्तान की कैद से छूटकर देर रात अपने देश वापस लौट आया। हिंदू जागरण मंच के प्रांतीय मंत्री व प्रभारी मंत्रीीीीी ने कहा कि आज विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की बहादुरी की चर्चा पूरे विश्व में है। इस मौके पर सैकड़ों कार्यकर्ता व पदाधिकारियों ने ढोल नगाड़ों आतिशबाजी के साथ जश्न मनाया।

हिंदू जागरण मंच में जबरदस्त उत्साह व उल्लास

हिंदू जागरण मंच के प्रांतीय मंत्री व प्रभारी मंत्री ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार की जबरदस्त कूटनीति के कारण दूसरे दिन ही पाकिस्तान को विंग कमांडर अभिनंदन को भारत वापस भेजना पड़ा। वरना कारगिल युद्ध के दौरान पाकिस्तान के कब्जे में सौरव कालिया को हाथ भी देश याद कर रहा है। उस समय भी जिनेवा कन्वेंशन था। परंतु पाकिस्तान ने जेनेवा कन्वेंशन के अंतर्गत सौरव कालिया का सम्मान नहीं किया। विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान में पूरी दुनिया में भारतीय जवानों का पराक्रम का प्रदर्शन किया। मिग-21 से फाइटर प्लेन f-16 को मार गिराना अपने आप में बहुत बड़ी उपलब्धि है। दुश्मन देश की सीमा में गिरने के बाद जिस प्रकार उन्होंने अपने जबांजी का परिचय दिया। वह अतुलनीय है। दुश्मन के कब्जे में आने के पहले उन्होंने अपनी पहचान मिटाने का भी प्रयास किया। यह कोई वीर योद्धा ही कर सकता हूं। दुश्मन देश में दुश्मन के कब्जे में होने के बाद निगाह मिला कर बात करना भारतीय सेना का जवान कर सकता है। इस मौके पर जिला अध्यक्ष अजय त्रिवेदी, विष्णु गुप्ता, विकास सिंह सेंगर, धर्मेंद्र शुक्ला, मनीष अवस्थी, शुभम कनौजिया विवेक तिवारी, मोना पांडे, सुधा अवस्थी सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned