बंगलुरु से दरभंगा जा रही श्रमिक एक्सप्रेस के भूखे पैसे यात्रियों का हंगामा किया, तोड़फोड़

-उन्नाव रेलवे स्टेशन पर भूखे प्यासे यात्रियों का हंगामा

By: Narendra Awasthi

Published: 23 May 2020, 04:14 PM IST

उन्नाव. स्थानीय जंक्शन रेलवे स्टेशन पर श्रमिक स्पेशल ट्रेन के यात्रियों ने उस समय हंगामा शुरू कर दिया जब उन्हें स्टेशन पर खाने-पीने की कोई व्यवस्था नहीं मिली। इस दौरान उन्होंने जमकर पथराव भी किया किया। स्टेशन पर स्टैंड पोस्ट सीटों को तोड़ दिया। यात्रियों का कहना था कि वह लगातार तीन दिनों से चल रहे हैं उन्हें ना तो ट्रेन में और ना ही बाहर स्टेशन पर खाने पीने को मिल रहा है घटना की जानकारी मिलते ही जिलाधिकारी रविंद्र कुमार व पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुंच गए और उन्होंने यात्रियों से बातचीत की। रेलवे प्लेटफार्म पर दैनिक व्यवस्था ना होने के कारण जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त की।

गौरतलब है बेंगलुरु से दरभंगा जा रही समिति स्पेशल ट्रेन लाइन क्लियर न होने के कारण लाल सिंगल पर स्टेशन पर रुके यात्रियों ने स्टेशन पर पानी की तलाश में उतरे तो उन्हें निराशा हाथ लगी पानी न मिलने के कारण यात्रियों ने स्टेशन पर हंगामा करना शुरू कर दिया यात्रियों का कहना था कि वे लगातार तीन-चार दिन से यात्रा कर रहे हैं। ना तो खाने के लिए मिलना है और ना पीने के लिए कुछ पानी नहीं मिल रहा है। उन्नाव रेलवे स्टेशन पर यात्रियों के सब्र का बांध टूट गया और उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया।

स्टेशन पर पानी की व्यवस्था ना होने के कारण यात्रियों के हंगामे पर जिलाधिकारी ने स्टेशन अधीक्षक को फटकार लगाई उन्होंने कहा कि भविष्य में इस प्रकार की स्थिति नहीं आनी चाहिए इस संबंध में बातचीत के दौरान जिला अधिकारी रवींद्र कुमार ने कहा कि बेंगलुरु से दरभंगा जा रही समिति स्पेशल ट्रेन का ठहराव उन्नाव में नहीं था लेकिन लाइन क्लियर ना होने के कारण ट्रेन रुकी थी यात्रियों का कहना था कि उन्हें ना तो ट्रेन में और ना ही स्टेशन पर खाने-पीने की व्यवस्था मिल रही है बच्चे बिलबिला रहे हैं यात्रियों का कहना भी जायज था। उन्होंने कहा कि स्टेशन मास्टर से कहा गया है कि वह स्टेशन पर अपनी व्यवस्था दुरुस्त रखें। जिसमें भविष्य में इस प्रकार की परेशानी ना हो।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned