भारतीय रेलवे : ट्रेन में चेन स्नेचिंग, लूट व डकैती की घटना को दे रहे थे अंजाम, तभी पुलिस ने किया गिरफ्तार

भारतीय रेलवे की ट्रेन में चेन स्नेचिंग वन लूट की घटनाओं को अंजाम देने वाले दो शातिर चोरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

By: Mahendra Pratap

Published: 16 May 2018, 06:00 AM IST

उन्नाव. भारतीय रेलवे की ट्रेन में चेन स्नेचिंग वन लूट की घटनाओं को अंजाम देने वाले दो शातिर चोरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जिनके खिलाफ उन्नाव और कानपुर में 18 मुकदमे पंजीकृत है। पुलिस ने पकड़े गए अभियुक्तों के पास से तीन सोने की चेन, चोरी की एक मोटरसाइकिल पैशन प्रो, 5 मोबाइल व नाजायज तमंचा बरामद किया है।

सभी संगीन धाराओं में मुकदमा पंजीकृत

पुलिस लाइन सभागार में हुए प्रेस वार्ता में खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पकड़े गए अभियुक्तों के खिलाफ आईपीसी की सभी संगीन धाराओं में मुकदमा पंजीकृत है और सभी जेल गए हैं। लूट, हत्या, डकैती सहित अन्य कई धाराओं में मुकदमा पंजीकृत है। पूंछतांछ के दौरान अभियुक्तों ने कई घटनाओं में हाथ होना स्वीकारा है। उन्होंने बताया कि ट्रेनों में होने वाली चेन स्नेचिंग और लूट की घटनाओं के अपराधियों को पकड़ने में काफी होमवर्क करना पड़ता है। यह पुलिस की बड़ी उपलब्धि है।

चलती ट्रेन में देते थे घटनाओं को अंजाम

गंगा घाट थाना पुलिस द्वारा ट्रेन में लूट और चेन स्नेचिंग की घटना करने वाले नूर आलम उर्फ टाइगर पुत्र मुन्ना उर्फ गरीब उद्दीन निवासी राजीव नगर खंती चंपा पुरवा कोतवाली गंगा घाट छुटक्के उर्फ साजन पुत्र भूरे निवासी मिश्रा कॉलोनी कोतवाली गंगा घाट से गिरफ्तार किया गया है। पूंछतांछ के दौरान दोनों ही लुटेरों ने स्वीकार किया कि वह लोग ट्रेन में चेन स्नेचिंग व लूट की घटनाओं को अंजाम देते हैं। पुलिस अधीक्षक हरीश कुमार ने बताया कि लुटेरों ने जानकारी दी है कि उन्नाव सहित कानपुर में भी उन्होंने कई लूट की घटनाओं को अंजाम दिया है। जिनके पास से लूटी गई सोने की चेन, चोरी की मोटरसाइकिल, मोबाइल व नाजायज असलहा भी बरामद हुआ है। इसके साथ ही लुटेरों ने काफी घटनाओं को किए जाने की बात स्वीकार की है।

कानपुर जीआरपी में आधा दर्जन से ज्यादा मुकदमे पंजीकृत

पकड़े गए अभियुक्तों में नूर आलम के खिलाफ गंगाघाट कोतवाली में लूट व हत्या के मुकदमा पंजीकृत हैं। जबकि जीआरपी उन्नाव में एनडीपीएस लूट, हत्या का प्रयास व जी आर पी कानपुर में 8 मुकदमे जिनमें 380 /392 /411 /394 धारा के अंतर्गत पंजीकृत हैं। जबकि छुटक्के के खिलाफ गंगाघाट कोतवाली में 8 मुकदमे पंजीकृत है। जिनमें एनडीपीएस, गुंडा एक्ट, लूट, हत्या का प्रयास, हत्या के मामले शामिल हैं। इसके साथ ही लखनऊ के आशियाना थाने में भी एक मामला पंजीकृत है। जबकि जीआरपी कानपुर सेंट्रल में 8 मुकदमे पंजीकृत हैं। पकड़ने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक गंगाघाट कोतवाली दिनेश चंद्र मिश्रा, प्रभारी निरीक्षक स्वाट सुधीर कुमार अवस्थी, उपनिरीक्षक रविंद्र सिंह भदोरिया, उप निरीक्षक प्रवीण कुमार गौतम, कांस्टेबल असरार अहमद, कांस्टेबल प्रमोद कुमार, अनिल कुमार मिश्रा, सुनील कुमार, आदेश कुमार सहित अन्य लोग शामिल थे। इस मौके पर क्षेत्राधिकारी नगर स्वतंत्र कुमार सिंह भी मौजूद थे।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned