लोकसभा चुनाव 2019 - जिला प्रशासन कर रहा है फर्स्ट डिवीजन आने की तैयारी, मतदाता कर रहे हैं बहिष्कार की घोषणा

लोकसभा चुनाव 2019 विकास कार्य ना होने के कारण मतदाता आक्रोश

By: Narendra Awasthi

Updated: 10 Apr 2019, 08:02 PM IST

उन्नाव. लोकसभा चुनाव में मतदान से बहिष्कार की धमकी का असर भी जिला प्रशासन पर नहीं पड़ रहा है। एक तरफ फर्स्ट डिवीजन आने की तैयारी में जिला प्रशासन लगा है। वहीं दूसरी तरफ जनपद के विभिन्न क्षेत्रों से मतदान बहिष्कार की जानकारी भी सामने आ रही है। हसनगंज तहसील के हसनपुर बयारी गांव में 2600 मतदाता मतदान के बहिष्कार की शपथ ले रहे हैं। इसके अतिरिक्त अपनी बात रखने के लिए, प्रशासन की आंखें खोलने के लिए धरना प्रदर्शन भी लगातार किया जा रहा है। इसके बाद भी लगभग 19 साल पहले बनी सड़क में किसी प्रकार का परिवर्तन नहीं आया। इस संबंध में बातचीत करने पर हसनगंज उप जिलाधिकारी ने बताया कि लेखपाल को भेजा जा रहा है। शीघ्र ही ग्रामीणों की समस्याओं का समाधान होगा।

हसनगंज तहसील का मामला

इस संबंध में बातचीत करने पर गांव निवासी मनोज सिंह ने बताया कि यह सड़क पी डब्लू डी के द्वारा 1996 - 97 में बनाई गई थी। जिसके पास से इस पर कोई भी कार्य नहीं हुआ है मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा सड़कों को गड्ढा मुक्त करने की घोषणा के बाद बीच सड़क की स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया उन्होंने बताया कि एक बार ठेकेदार द्वारा गिट्टी आदि गिराई गई थी लेकिन उसने यह कह कर उठा लिया कि यहां तो सड़क ही नहीं है हमें तो गड्ढा भरने के लिए कहा गया इस संबंध में बातचीत करने पर उप जिलाधिकारी हसनगंज ने कहा कि आज ही ग्रामीणों की मांग पर मौके पर अधिकारियों को भेजा जा रहा है शीघ्र ही आगे की कार्रवाई होगी गौरतलब है या सड़क औरास मोहान रोड से निकल कर तौंदा, नरशा, बयारी, मदारी खेड़ा मोड़ तक गई है। जिसकी लंबाई लगभग 6 किलोमीटर है। आंदोलित ग्रामीणों में सत्येंद्र सिंह, राम शंकर मौर्य, दीवान सिंह, मुन्ना मौर्य, विमल गुप्ता, रूपचंद वर्मा, राजकुमार मौर्य आदि शामिल है

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned