रोडवेज वर्कशाप में लूट से मचा हड़कंप, कट्टा की नोक पर वारदात को दिया अंजाम

कट्टा लेकर आए लुटेरे और लाखों की लूट की वारदात को दिया अंजाम, विभागीय कर्मचारियों पर शक...

उन्नाव. लखनऊ-कानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित रोडवेज वर्कशाप में 23 लाख की लूट से क्षेत्र में सनसनी फैल गयी। कट्टे की नौक पर हुयी इस लूट में एक परिचालक घायल हुआ। वहीं कैश में मौजूद सभी को लुटेरों ने एक कमरे में बंद कर आराम से घटना को अंजाम दिया। बाहर हो रही घटना से अंजान एक कंडक्टर जैसे ही शौचालय से बाहर निकला उसे भी लुटेरों ने कट्टे की नौक पर लेकर लगभग 18 हजार लूट लिये। लुटेरों की संख्या तीन थी। जिनके हाथों में असलहे थे। वर्कशाप में लगे सीसी कैमरे शौ पीस बने थे। जो कैमरे लगे है वह भी कर्मचारियों पर निगाह रखने के लिये लगाये गये थे। परंतु खराब पडे़ है। लूट की सूचना पाकर मौके पर पुलिस अधीक्षक सहित आलाधिकारी मौके पर पहुंच गये। जहां घटना स्थल का निरीक्षण किया।

 

चौकीदार को नहीं मालूम कि लूट हो गयी

लखनऊ-कानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित रोडवेज वर्कशाप में अचानक पुलिस गाडियों के हूटर और बूटों की आवाज सुनायी पड़ने लगी। उसके बाद आसपास के लोगों को घटना की जानकारी हुयी। वर्कशाप में विगत शनिवार और रविवार का कैश बैंक बंद होने के कारण लॉकर में रखा था। देर शाम हथियारों से लैश लुटेरों ने बिना किसी अवरोध के कैश तक पहुंच गये। इसके पहले कोई समझ पाता लुटेरों ने कैशियर दयाराम, बाबू राजकिशोर सहित मौके पर मौजूद को कट्टे की नौक लेकर कमरे में बंद कर दिया। इसके पहले लुटेरों ने उनसे मोबाइल छीन लिया था। लुटेरों ने आराम से लॉकर में रखे कैश को लूट कर नौ दो ग्यारह हो गये। लुटेरें घुसे, कट्टे की नौक पर कैश की लूट की। परंतु इसकी भनक किसी को नहीं हुयी। लुटेरों के जाने के बाद कमरे में बंद लोगों ने चिल्लाया उसके बाद घटना की जानकारी मौके पर मौजूद को हुयी।

 

पुलिस अधींक्षक ने दिये शीघ्र खुलासे के निर्देश

100 नम्बर पर घटना की जानकारी दी गयी। रोडवेज में रोडवेज वर्कशॉप में लूट की घटना की खबर सुन कर पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। सूचना पाकर मौके पर पुलिस अधीक्षक पुष्पांजलि देवी ने घटना स्थल का निरीक्षण किया। मौके पर मौजूद कर्मियों से पूछतांछ की। जो कुछ समाने निकल कर आया उससे यही जानकारी होती है कोई जानकार ही घटना में शामिल है। जिसने आराम से बिना किसी हड़बड़ाहट के लूट की घटना को अंजाम दिया। पुलिस अधीक्षक ने शीघ्र ही घटना के खुलासे के निर्देश दिये है।

 

वर्कशाप की सुरक्षा निहत्थे के हाथ

रोडवेज वर्कशाप की सुरक्षा की जिम्मेदारी पीआरडी के निहत्थे जवानों के हवाले है। जो दिन भर आने व जाने वाली गाड़ियों की इंट्री करते थे। इसके अतिरिक्त यहां कौन आता है और कौन जाता है इसके विषय में कोई जानकारी नहीं रखी जाती है। अनियमितताओं की गिरफ्त में रोडवेज वर्कशाप में लगे सीसी कैमरे वर्कशाप, धुलाई डीजल जैसे स्थानों पर कर्मियों द्वारा की जाने वाली संभावित चोरी को रोकने के लिये लगाये गये है। परंतु जहां जरूरत थी वहां नहीं लगाये गये।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned