पत्रकार हत्याकांड में शामिल गैंगस्टर के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, 15 करोड़ की संपत्ति जब्त

- खबर चलाने से नाराज महिला भू माफिया ने शार्प शूटर की मदद से कराई हत्या

By: Narendra Awasthi

Published: 18 Dec 2020, 07:18 PM IST

उन्नाव. पत्रकार हत्याकांड में शामिल तीन अभियुक्तों पर प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की। गैंगस्टर दिव्या अवस्थी और उनके परिवार के सदस्यों की लगभग 15 करोड़ की चल अचल संपत्ति को प्रशासन ने जब्त कर कुर्क किया। जिनके खिलाफ मृतक पत्रकार के भाई ने मुकदमा पंजीकृत कराया था। उल्लेखनीय है विगत 19 जून को ऋषभ मणि त्रिपाठी ने गंगा घाट कोतवाली में आईपीसी की धारा 147/148/149/302/34 के अंतर्गत अभियोग पंजीकृत कराया था। जिसमें दिव्या अवस्थी उसके पति कन्हैया अवस्थी सहित 10 शामिल थे। साक्ष्य के आधार पर आईपीसी की धारा 120बी भादवि व 7 सीएल एक्ट की वृद्धि की गई थी।

थाना गंगाघाट पुलिस द्वारा गैंगेस्टर एक्ट की धारा 14(1) के तहत कार्यवाही करते हुए पत्रकार शुभममणि त्रिपाठी हत्याकाण्ड में शामिल गैंगेस्टर दिव्या अवस्थी पत्नी कन्हैया अवस्थी, कन्हैया अवस्थी, राघवेंद्र अवस्थी पुत्रगण स्व. नरेन्द्र अवस्थी निवासीगण मोहल्ला शक्तिनगर शुक्लागंज थाना गंगाघाट के आपराधिक कृत्यों, जनता को डरा धमका व भयभीत कर अवैध रूप से अर्जित की गई कुल- 88 भू-सम्पत्ति, 05 वाहनों समेत कुल 14 करोड़ 85 लाख 79 हजार 920 रुपये मूल्य (लगभग 15 करोड़ों रुपये) की चल-अचल संपत्ति को ज़ब्त कर कुर्क किया गया।

 

गंगा घाट कोतवाली पुलिस के अनुसार

गंगाघाट कोतवाली पुलिस ने बताया कि नामजद अभियुक्त शहनवाज अंजर पुत्र स्व. अंजर आलम की गिरफ्तारी से मामला का खुलासा हुआ। अभियुक्त शहनवाज ने बताया कि वह दिव्या अवस्थी का कस्बा शुक्लागंज में प्लाटिंग का कार्य है। जिसको मोनू खान व राघवेन्द्र अवस्थी देखता हैं। शुभम मणि द्वारा दिव्या अवस्थी के द्वारा कराए जा रहे अवैध निर्माण की खबर को चलाए जाने के बाद राजस्व विभाग ने निर्माण गिरा दिया था। इसके पूर्व भी शुभम मणि त्रिपाठी ने दिव्या अवस्थी के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराया था आरोप पत्र न्यायालय में दाखिल है। सोशल मीडिया पर भू माफियाओं की खबर पोस्ट करने से दिव्या व स्थिति तिलमिला गई और शुभम मणि त्रिपाठी को रास्ते से हटाने के लिए मोनू खान और राघवेंद्र अवस्थी को कहा। जिसके बाद शार्प शूटर की मदद से पत्रकार शुभम मणि त्रिपाठी की हत्या कर दी गई थी।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned