दुष्कर्म पीड़िता ने न्याय न मिलने पर राष्ट्रपति व मुख्यमंत्री से इच्छा मृत्यु की मांग की

- दुष्कर्म पीड़िता का कहना है कि न्याय मांगते मांगते थक गई

- पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई

- इच्छा मृत्यु की मांग सामने आने पर मचा हड़कंप हो रहा आरोपी के खिलाफ अभियोग पंजीकृत

By: Narendra Awasthi

Published: 01 Jul 2019, 07:10 PM IST

उन्नाव. दुष्कर्म पीड़िता विवाहिता ने राष्ट्रपति व मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर इच्छा मृत्यु की मांग की है। उसका कहना है कि न्याय पानी के लिए एक बार दर-दर भटक कर थक चुकी हूं। पुलिस आरोपी का ही साथ दे रही है। इसलिए मैं राष्ट्रपति का मुख्यमंत्री से इच्छा मृत्यु की मांग की है। दुष्कर्म पीड़िता इस संबंध का एक शिकायती पत्र पुलिस अधीक्षक को दिया है पीड़िता ने बताया कि पुलिस अधीक्षक ने न्याय का भरोसा दिया है। इस संबंध में बातचीत करने पर पीड़िता ने बताया कि पुलिस अधीक्षक ने न्याय का भरोसा दिया है और अचलगंज थाने में अभियोग पंजीकृत किया जा रहा है।

 

अचलगंज थाना क्षेत्र का मामला

घटना अचलगंज थाना क्षेत्र की है उक्त थाना क्षेत्र निवासी दुष्कर्म पीड़िता ने बताया कि उसका पति जेल में है और उसके 3 साल का एक पुत्र है। उसके मोहल्ले के ही रहने वाले गोविंद कुशवाहा पुत्र मोदी लाल के परिवार ने उसके साथ धोखाधड़ी करके दिल्ली लिवा ले गए। बताया था कि दिल्ली से तुम्हारी पति को जेल से छुड़वाने में मदद की जाएगी। दुष्कर्म पीड़िता ने बताया कि दिल्ली में गोविंद ने बिना उसकी सहमति के उसके साथ गलत काम किया। इस संबंध में उसने अचलगंज थाने में तहरीर दी। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

 

पुत्र का भय दिखा जबरन किया कोर्ट मैरिज

दुष्कर्म पीड़िता ने बताया कि इसी बीच तीन साल के पुत्र का भय दिखाकर आरोपी परिवार ने गोविंद से उसके कोर्ट मैरिज करा दिया। जबकि उसका अपने पति से तलाक भी नहीं हुआ है। पीड़िता ने बताया कि विगत 28 जून को गोविंद के परिवार वाले उसे घर में बंद करके मारा पीटा और कमरे में बंद करके चले गए। उसने किसी प्रकार सौ नंबर को जानकारी दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे छुड़ाया। तहरीर लेकर न्याय के लिए अचलगंज थाना गई। लेकिन वहां से पुलिस वालों ने भगा दिया। उसने राष्ट्रपति व मुख्यमंत्री से इच्छा मृत्यु की मांग की है। इस संबंध में बातचीत करने पर अचलगंज थाना अध्यक्ष ने बताया कि पीड़िता की तहरीर पर अभियोग पंजीकृत किया जा रहा है जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

 

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned