मां के अपने प्रेमी से अवैध संबंध, उसी से बेटी की भी कराना चाहती थी शादी, फिर जो हुआ...

मां के अपने प्रेमी से अवैध संबंध, उसी से बेटी की भी कराना चाहती थी शादी, फिर जो हुआ...

Nitin Srivastva | Publish: Mar, 14 2018 11:04:28 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

अवैध संबंध में अंधी बहू ने पुलिस कस्टडी में पिया मोबिल ऑयल, मचा हड़कंप...

उन्नाव. एक नाबालिग बेटी ने अपनी मां पर बाबा को गायब करने के साथ बाल विवाह कराने का भी आरोप लगाते हुए पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाई। पुलिस अधीक्षक को मिले शिकायती पत्र पर सक्रिय हुई पुलिस ने सर्विलांस की सहायता लेते हुए आरोपी महिला को गिरफ्तार किया। पूछताछ में बताया कि उसने अपने सहयोगियों के माध्यम से ससुर की हत्या कर शव को कानपुर में फेंक दिया है। लगभग 1 महीने पहले हुई इस हत्या के विषय में जानकारी के लिए पुलिस ने शिवराजपुर थाना पुलिस से संपर्क किया, तो जानकारी मिली कि 17 फरवरी को थाना क्षेत्र में शव मिला था। जिसकी शिनाख्त कपड़ों से हुई। पुलिस की कस्टडी में भी महिला ने अपनी एक हरकत से पूरे महकमे को हिला दिया। जेल जाने से बचने के लिए उसने महिला थाना में रखा मोबिल ऑयल पी लिया। हत्यारोपी द्वारा मोबिल ऑयल पीने की घटना से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आनन-फानन उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां से उसे कानपुर रेफर कर दिया गया। उक्त घटना में अभी एक आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

 

नाबालिग बेटी ने पुलिस अधीक्षक से की शिकायत

मामला औरास थाना क्षेत्र के गांव हिम्मत खेड़ा का है। उक्त गांव निवासी सुशीला पत्नी कल्लू ने थाना में अपने ससुर हरि भान यादव (60) की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसके साथ ही सुशीला अपनी बेटी की शादी अपने अधेड़ उम्र के प्रेमी से करना चाहती थी। जिसकी जानकारी नाबालिग बेटी को हो गई। उसने पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र देते हुए अपनी मां की करतूतों को बयां किया और न्याय की गुहार लगाई। पुलिस अधीक्षक मामला संज्ञान में आते ही अधीनस्थों को कार्रवाई के निर्देश दिए। सर्विलांस के जरिए सुशीला को पुलिस ने गिरफ्तार कर पूछताछ की। उसने बताया कि विगत 16 फरवरी को उसने कार के अंदर ही अपने साथियों के माध्यम से ससुर की हत्या कर शव को कानपुर के शिवराजपुर थाना क्षेत्र में फेंक दिया था।

 

हत्या कर शिवराजपुर थाना क्षेत्र में फेंका था शव

जिसके बाद पुलिस ने शिवराजपुर थाना से संपर्क किया और घटना के विषय में जानकारी ली तो पता चला कि 17 फरवरी को शव मिला था। जिसकी शिनाख्त कपड़े से हुई और वह हरि भान यादव था। हरि भान की हत्या होने की बात सामने आने पर पुलिस ने सुशीला से सख्ती से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसने राजवीर साकेत और सत्येंद्र के माध्यम से घटना को अंजाम दिया। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए राजवीर और साकेत को गिरफ्तार कर लिया। जबकि सत्येंद्र अभी भी फरार है। इधर सुशीला ने जेल जाने से बचने के लिए महिला थाने में रखा मोबाइल पीलिया। उसकी यह हरकत पुलिस महकमे में हड़कंप मचा दिया। आनन फानन जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।जहां से उसे कानपुर रेफर कर दिया गया।

Ad Block is Banned