ना धरना प्रदर्शन हुआ, ना ही रेल रोकी गई, ना ही तोड़फोड़ हुआ मोदी सरकार ने बड़ी मांग पूरी कर दी

जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष हरसहाय मिश्र ने कहां प्रधानमंत्री यूं ही नहीं सबका साथ सबका विकास की बात करते हैं, कमलनाथ मध्य प्रदेश में अपना विधानसभा अध्यक्ष नहीं चुन पा रहे हैं

By: Narendra Awasthi

Published: 10 Jan 2019, 08:26 PM IST

Unnao, Unnao, Uttar Pradesh, India

उन्नाव. प्रधानमंत्री यूं ही नहीं सबका साथ सबका विकास की बात करते हैं। उन्होंने ऐसे लोगों को मदद पहुंचाई जिन्होंने कभी ना तो धरना प्रदर्शन किया, ना ही रेल रोकी और ना ही तोड़फोड़ किया। बड़ी ही सरलता और आसानी से अपनी आरक्षण की मांग करते चले आ रहे थे। जिस पर सबका साथ सबका विकास का नारा देने वाली मोदी सरकार ने ध्यान दिया और गरीब सवर्णों को आरक्षण देने के उद्देश्य से लोकसभा व राज्यसभा ने भारी बहुमत से बिल को पास करा दिया। जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष हरसहाय मिश्र उर्फ मदन मिश्र ने पत्रिका से खास बातचीत के दौरान उक्त विचार व्यक्त किया।

 

आरक्षण पर सवाल उठाने वाला विपक्ष बताएं 10 साल का आरक्षण 60 साल क्यों चला

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि विपक्ष 60 65 बरसों से देश में राज्य कर रही है। ऐसे में देश के अंदर आरक्षण का मुद्दा ही नहीं होना चाहिए था सारे आरक्षण खत्म हो जाना चाहिए था। बाबा साहब ने 10 वर्ष के लिए आरक्षण लागू किया था। विपक्षी दलों की नाकामी है कि 60 साल तक यह चला। 800000 वार्षिक आय वाले आरक्षण की श्रेणी में आ रहे हैं क्या यह गरीब हैं के प्रश्न पर श्री मिश्र ने कहा कि या मोदी सरकार की सोच है कि अभी इस 800000 रुपए वार्षिक आय वर्ग के लोग अभी विकास की दौड़ में पीछे हैं। हरसहाय मित्र ने कहा कि विपक्ष जितनी भी राजनीति करता है, चुनाव के दृष्टिकोण से करता है। उन्होंने कहा कि हार जीत चुनाव का हिस्सा है। मध्यप्रदेश में विधानसभा अध्यक्ष के लिए घमासान जारी है। कांग्रेसमें आम जनता से झूठ बोला है और धोखा दिया है।

PM Narendra Modi
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned