अनुसूचित जाति के छात्रों को लाभ की नई योजना, वित्तीय सहायता से पूरी कर सकेंगे पढ़ाई

केंद्र सरकार ने अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के छात्र-छात्राओं के लिए मैट्रिकोत्तर छात्रवृत्ति योजना की शुरुआत की है

By: Karishma Lalwani

Published: 12 Jan 2021, 09:39 AM IST

उन्नाव. केंद्र सरकार ने अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के छात्र-छात्राओं के लिए मैट्रिकोत्तर छात्रवृत्ति योजना की शुरुआत की है। यह योजना एससी-एसटी वर्ग के छात्रों के लिए वरदान साबित होगी। यह जानकारी दी भाजपा के प्रदेश मंत्री रामचंद्र कनौजिया का। कानपुर-लखनऊ हाईवे स्थित पार्टी कार्यालय में भाजपा के प्रदेश मंत्री रामचंद्र कनौजिया ने केंद्र सरकार से शुरू की गई मैट्रिकोत्तर छात्रवृत्ति की उपलब्धियां गिनाईं। उन्होंने कहा कि इस छात्रवृत्ति से अनुसूचित जाति के छात्रों को लाभ मिलेगा। साथ ही 10वीं उत्तीर्ण छात्रों को उच्चतर शिक्षा पाठ्यक्रमों में नामित करने के लिए एक अभियान चलाया जाएगा।

छात्रों को मिलेगी वित्तीय सहायता

रामचंद्र कनौजिया ने कहा कि स्कीम में छात्रों को वित्तीय सहायता देकर पढ़ाया जाएगा। इसमें निगरानी तंत्र को और सुदृढ़ किया जाएगा। सोशल आडिट भी कराया जाएगा। मैट्रिकोत्तर छात्रवृत्ति योजना को लेकर उन्होंने कहा कि इसमें 2017 से 2020 तक लगभग 1100 करोड़ का बजट था। जिसे सरकार ने 2021 में बढ़ाकर 6000 करोड़ कर दिया है। योजना की राशि छात्रों के बैंक खातों में डीबीटी के माध्यम से सीधे भेजी जाएगी।

ये भी पढ़ें: पंचायत चुनाव को लेकर अनुप्रिया पटेल का बड़ा बयान, अकेले चुनाव लड़ेगी पार्टी, इन युवाओं पर दांव लगाएगा अपना दल

ये भी पढ़ें: गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा अमेठी, दिनदहाड़े घर में घुसकर युवक को मारी गोली, महिला पर भी हमला

BJP
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned