अपनी मांगों को लेकर प्राथमिक शिक्षक संघ आंदोलित, हजारों की संख्या में पहुंचे शिक्षक

यूपी प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रांतीय नेतृत्व के आह्वान पर आज जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय परिसर में दो दिवसीय धरना प्रदर्शन शुरू किया गया.

By: Abhishek Gupta

Published: 22 Aug 2017, 10:32 PM IST

उन्नाव. उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रांतीय नेतृत्व के आह्वान पर आज जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय परिसर में दो दिवसीय धरना प्रदर्शन शुरू किया गया। जिसमें संघ के नेताओं ने 16 सूत्रीय मांगों पर अपने विचार रखें। शिक्षक नेताओं का मानना था कि शासन उनसे शैक्षिक कार्यों के अलावा भी तमाम ऐसे कार्य करवाती है, जिससे शिक्षण कार्य प्रभावित होता है। शिक्षकों की मांगों में ऐसे तमाम मुद्दे शामिल हैं, जिनसे शिक्षकों के साथ छात्र हित भी जुड़ा है। अपने 16 सूत्री मांगों को लेकर दो दिवसीय प्रदर्शन धरना प्रदर्शन के दौरान जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय परिसर में बड़ी संख्या में शिक्षकों ने सामूहिक अवकाश लेकर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

प्राइमरी स्कूलों से सामूहिक अवकाश लेने के कारण प्राइमरी विद्यालयों में ताला लटकने लगे। इसके पूर्व सुप्रीम कोर्ट के आदेश से नाराज शिक्षामित्र पहले ही आंदोलित हैं, जिनका धरना प्रदर्शन लखनऊ के लक्ष्मण झूला पार्क में चल रहा है। इधर उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ भी दो दिवसीय धरना प्रदर्शन के कारण जनपद के 141 प्राइमरी स्कूलों में तालाबंदी हो गई। सुबह से ही शिक्षक जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय परिसर में इकट्ठा होने लगे। जहां संगठन के पदाधिकारियों ने सरकार के खिलाफ जमकर बयान बाजी की। इस मौके पर वक्ताओं ने अपनी 16 सूत्री मांगों को दोहराया। जिसमें शिक्षकों को पुराना पेंशन निर्धारण करने की मांग की गई है।

16 सूत्री मांगों के साथ धरना

बीएसए ऑफिस परिसर में आयोजित धरना को संबोधित करते हुए जिला अध्यक्ष बृजेश पांडे ने कहा कि सरकार को कई बार इस विषय में लिखा जा चुका है। उन्होंने कहा कि उनकी प्रमुख मांगो में पुरानी पेंशन योजना को बहाल करना है। इसके अतिरिक्त मृतक आश्रितों के पाल्यों को शिक्षक के पद पर नियुक्ति, कैशलेस चिकित्सा सुविधा, 17140 से 18150 का वेतन क्रम, पदोन्नति जैसे मुद्दे शामिल हैं। उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रमुख मागों के सम्बध में उन्होंने कहा है कि गैर शैक्षणिक कार्यों से उन्हें मुक्त किया जाए। जिससे बच्चों की पढ़ाई पर असर पड़ता है। इसके अतिरिक्त अंतर्जनपदीय स्थानांतरण कि 5 साल की सीमा को घटाकर 1 वर्ष किया जाए। विद्यालय की सुरक्षा हेतु चौकीदार की नियुक्ति, नगरीय क्षेत्रों में शिक्षकों की नियुक्ति के साथ अन्य जनपद स्तरीय मांगो का समावेश है। धरना प्रदर्शन में उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ जिला अध्यक्ष बृजेश पांडे के अलावा महामंत्री गजेंद्र वर्मा, संजू संखवार, मदन गोपाल, रामसिंह कनोजिया, वेद मिश्रा, नीरज अग्निहोत्री, विश्वनाथ सिंह सहित हजारों की संख्या में शिक्षक मौजूद थे। प्राथमिक शिक्षक स्कूल बंद कर सामूहिक अवकाश पर धरना प्रदर्शन में पहुंचे।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned