पूर्व बार अध्यक्ष के घर में फायरिंग करने वालों की गिरफ्तारी न होने पर प्रदर्शन, फूंका पुतला

Ruchi Sharma

Publish: Oct, 12 2017 04:55:06 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
पूर्व बार अध्यक्ष के घर में फायरिंग करने वालों की गिरफ्तारी न होने पर प्रदर्शन, फूंका पुतला

पूर्व बार अध्यक्ष के घर में फायरिंग करने वालों की गिरफ्तारी न होने पर प्रदर्शन, फूंका पुतला

 

उन्नाव. जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक से लगातार मुलाकात करने के बाद भी बार एसोसिएशन को न्याय नहीं मिला। उनकी मांग थी कि नामजद अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जाए। जिन्होंने पूर्व बार अध्यक्ष के घर पर फायरिंग की और परिवारों को दहशत में डाल दिया था। घटना के एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी किसी भी प्रकार की गिरफ्तारी न होने से पुलिस कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठ रहे हैं। बार सभागार में मोहान विधानसभा विधायक अधिवक्ताओं के पक्ष में बयान देते हुए मुख्यमंत्री के पास प्रतिनिधि मंडल की अगुवाई की बात कर चुके हैं।

सदर विधायक पंकज गुप्ता ने बार एसोसिएशन सभागार में पहुंचकर आज अपनी बात रखी। इसके पहले उन्हें अधिवक्ताओं के विरोध का सामना भी करना पड़ा। जिसके बाद विधायक पंकज गुप्ता ने कहा कि यदि 24 घंटे के अंदर आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होती है, तो वह अधिवक्ताओं के धरने की अगुवाई करेंगे और प्रशासन के खिलाफ धरना देंगे। बार सभागार से निकलकर अधिवक्ताओं का समूह जिला व पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए भड़ास निकाली। इस मौके पर उन्होंने जिला व पुलिस प्रशासन को मुर्दा करार दिया और कहा इसलिए मुर्दे के पुतले को दहन किया जा रहा है। अधिवक्ताओं का आक्रोश जिला व पुलिस प्रशासन के खिलाफ देखते बनता था। वहीं चर्चा इस बात की भी रही कि विपक्ष के कमजोर होने के कारण यह स्थिति आ रही है।

जिला प्रशासन व पुलिस के खिलाफ जमकर की नारेबाजी


पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार बार सभागार अधिवक्ताओं ने बैठक की जिसमें अधिवक्ताओं ने जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर बयान बाजी की। बार सभागार से निकल कर अधिवक्ताओं का समूह जिलाधिकारी कार्यालय, पुलिस अधीक्षक कार्यालय होते हुए नए पुल से बड़ा चौराहा पहुंचा। जहां बार एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष गिरीश मिश्रा ने मौके पर मौजूद अधिवक्ताओं को संबोधित किया। बाहर अध्यक्ष ने कहा कि जिला अधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक पूरी तरह असफल है जिसे देखते हुए उनकी शव यात्रा निकाली गई ऐसे निकम्मी जिला प्रशासन को रहने का कोई अधिकार नहीं है।

 

अधिवक्ताओं को संबोधित करते हुए पूर्व अध्यक्ष के शुक्ला ने कहा कि अपराधी एक निर्दोष की हत्या करना चाहते थे जिसको मैंने अपने घर में शरण दे दिया जिसके बाद उन्होंने मेरे घर पर जमकर फायरिंग की उन्होंने मेरे और मेरे परिवार की हत्या करने की कोशिश की शुक्ला ने कहा कि घटना के एक सप्ताह बीतने के बाद भी नामजद अभी तो में से किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है। अधिवक्ता संगठन द्वारा लगातार हड़ताल कर जिला प्रशासन से नामजद अभियुक्तों के खिलाफ कार्यवाही की मांग कर रहे हैं लेकिन जिला प्रशासन की कान में जूं नहीं रेंग रहा है इस मौके पर बार एसोसिएशन के पदाधिकारी के अलावा हजारों की संख्या में अधिवक्ता गण मौजूद थे।

पंकज गुप्ता ने कहा दिल्ली में बदलाव होना चाहिए


इसके पूर्व बार सभागार में सदर विधायक पंकज गुप्ता ने कहा कि कानून व्यवस्था का मामला गंभीर विषय है। दिक्कत सभी वर्ग के लोगों को है और जिले में परिवर्तन होना चाहिए। इस विषय पर हम लोगों ने चार बार मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। मुख्यमंत्री को पत्र लिखने वालों में सांसद व विधायकों के साथ संगठन व जिलाध्यक्ष शामिल है। पंकज गुप्ता ने कहा कि यदि 24 घंटे के अंदर गिरफ्तारी नहीं होती है तो अधिकता संगठन जिस भी प्रकार का धरना करेगा उसमें शामिल होंगे।

 

उन्होंने कहा कि यदि सरकार में भी रह कर मैं जनता को न्याय नहीं दिला सका। तुम कहां रहना बेकार है। आप को न्याय दिलाने के लिए यदि मुझे धरना देना पड़ा, संघर्ष भी करना पड़ा इसके लिए मैं तैयार हूं। जिसका मौके पर मौजूद अधिवक्ताओं ने ताली बजाकर स्वागत किया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned