इस जिले के एसपी ने दी चेतावनी, जब तक मैं हूं, नहीं होने दूंगा कोई गलत काम

SP ने कहा कि विभागीय काम के लिए आपको SP ऑफिस आने की आवश्यकता नहीं...

उन्नाव. मैं जब तक यहां हूं, अवैध काम नहीं होने दूंगा। अवैध धंधा अपराध बढ़ाने के एक कारक होते हैं। आपके क्षेत्र में बालू खनन की शिकायतें आती हैं। जिलाधिकारी द्वारा अधिकृत लोग ही इस कार्य को कर सकते हैं। अन्यथा अवैध खनन का कार्य नहीं होना चाहिए। अचानक आधी रात गंगा घाट कोतवाली पहुंचे पुलिस अधीक्षक हरीश कुमार ने मौके पर मौजूद पुलिस के जवानों को संबोधित करते हुए उक्त बातें कहीं। उन्होंने कहा कि IPL गेम में सट्टा बाजार की सूचनाएं काफी आ रही हैं। सट्टा बाजार के अवैध काम को खत्म करना करना होगा। इसके साथ ही जुआ भी अवैध अपराधिक गतिविधियों को बढ़ावा देता है। जिसमें हारने के बाद व्यक्ति आपराधिक घटनाओं से अंजाम देकर हारी गई रकम की भरपाई करना चाहता है।

 

बीट सूचना अवश्य दर्ज कराएं

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि बीट सूचना अवश्य लिखवाएं। सबसे ज्यादा भीड़ सूचनाएं दर्ज कराने वाला सिपाही को उसी थाने में सम्मानित किया जाएगा। बीट सूचना दर्ज होने से अपराधिक घटनाएं की संभावना खत्म हो जाती है। SI बीट सूचना की जांच करें और कानून के अनुसार दोनों पक्षों के खिलाफ कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि 111 / 107-16 में कार्यवाही करके छोटी घटनाओं को बड़ी घटनाओं में घटित होने से रोका जा सकता है।

 

विभागीय कार्य के लिए लाइन लगाना ठीक नहीं

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि आपको छुट्टी के लिए परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। आप जरूरत के अनुसार हमारे पास अपनी एप्लीकेशन भेज दे। छुट्टी मिलने में आपको कोई दिक्कत नहीं आएगी। आपको छुट्टी के लिए पुलिस अधीक्षक कार्यालय आना भी हमें अच्छा नहीं लगता है। मेरी अनुपस्थिति में ASP या क्षेत्राधिकारी अवकाश देने के लिए उपलब्ध रहेंगे।उन्होंने कहा कि GPF से अग्रिम लेने में भी आपको किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं आएगी हां आपने जो अग्रिम लिया है उसे अदा कर दिया हो। आपको अपने विभागीय कार्यों के लिए भागदौड़ करने की आवश्यकता नहीं है। आप दिन रात ड्यूटी करते हैं। उसके बाद sp ऑफिस में लाइन लगाए ठीक नहीं है।

 

आप की सक्रियता असहज स्थिति से बचने के लिए पर्याप्त

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि अचानक मेरी सूचना में 31 पुलिस के जवान अपने लाठी-डंडों हेलमेट के साथ तैयार खड़े हैं। इससे आप अपने थाना क्षेत्र में आने वाली अकस्मात घटना या आपदा से ही निपटने में सक्षम है साथ ही यदि जरूरत पड़ जाए आसपास के खाना को भी मदद दे सकते हैं। यहां तक की आवश्यकता पड़ी तो पड़ोसी जनपद कानपुर को भी मदद दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि यह स्थिति आपको उस उस समय आने वाली असहज स्थिति से बचा सकती है। जब आप घटना या आपदा के समय सोचते हैं कि अब मैं क्या करूं। जब आप अपने आप को असहाय या असमर्थ महसूस करते हैं। इस मौके पर क्षेत्राधिकारी नगर भी मौजूद थे।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned