वर्ल्ड रोज डे पर विशेष- आयुर्वेद में कैंसर पीड़ितों की इम्युनिटी पावर बढ़ाने के लिए विशेष दवाएं डॉ आरके दीक्षित

- कैंसर छूत की बीमारी नहीं है पीड़ितों का मनोबल बनाए रखना चाहिए

 

By: Narendra Awasthi

Updated: 23 Sep 2021, 10:34 AM IST

नरेंद्र नाथ अवस्थी

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

उन्नाव. आज 22 सितंबर के दिन कैंसर पीड़ितों के लिए खास दिन रहता है। जब हम इसे वर्ल्ड रोज डे के रूप में मनाते हैं। आज के दिन कैंसर पीड़ितों के साथ समय बिताने और उन्हें बीमारी का एहसास कराने से दूर करने का दिन है। इस संबंध में बातचीत करने पर वरिष्ठ आयुर्वेदिक चिकित्सक डॉक्टर आरके दीक्षित राजस्थान पत्रिका से खास बातचीत के दौरान कैंसर छूत की बीमारी नहीं है। उनके साथ अछूत जैसा व्यवहार नहीं करना चाहिए। कैंसर पीड़ित का मनोबल हमेशा बनाए रखना चाहिए।

यह भी पढ़ें

गरीब कल्याण दिवस के मौके पर सभी विकास खंडों में मेले का आयोजन, रूपरेखा निर्धारित

वर्ल्ड रोज डे के अवसर पर आज विशेष बातचीत में डॉ आरके दीक्षित ने बताया कि आयुर्वेद में इम्युनिटी पावर बढ़ाने के लिए काफी दवाइयां हैं। जिसके माध्यम से कैंसर पीड़ित को आराम मिल जाता है। जिला अस्पताल के माध्यम से कैंसर पीड़ित को आगे के अस्पतालों में उपचार के लिए भेजने का रास्ता भी खुलता है। बचाव के संबंध में डॉ दीक्षित ने कहा कि हम सभी को अपने खानपान में सतर्क रहना चाहिए। इसके साथ ही कौन सी औषधि लेनी है इस पर भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।

कैंसर पीड़ित के लिए जिला अस्पताल में आयुर्वेदिक के माध्यम से उपचार की व्यवस्था है। उन्होंने कहा कि कई मरीज उनके संपर्क में है। एक खास बातचीत में उन्होंने कहा कि यहां से मरीजों को एसपीजीआई या अन्य अच्छे कैंसर हॉस्पिटल में भी रिफर किया जाता है

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned