प्रेमी के संग भागी चार बच्चों की मां, फिर खेत में हुआ कुछ ऐसा कि देख मचा बवाल

प्रेमी के संग भागी विवाहिता का रक्त रंजित शव पुरवा कोतवाली क्षेत्र के गांव कोदइया खेड़ा और बेवल गांव के बीच मिला।

By: आकांक्षा सिंह

Published: 10 Nov 2017, 01:50 PM IST

उन्नाव. प्रेमी के संग भागी विवाहिता का रक्त रंजित शव पुरवा कोतवाली क्षेत्र के गांव कोदइया खेड़ा और बेवल गांव के बीच मिला। पास ही पांच सौ रूपये का नोट भी पड़ा था। शव पड़े होने की जानकारी कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। शव की शिनाख्त के लिये सोशल मीडिया का सहारा लिया गया। उसके बाद शव की शिनाख्त बिहार थाना क्षेत्र के गांव पोखरी निवासी किरन 30 पत्नी रामू पासी के रूप में हुयी। इस मामले में रामू पासी ने बिहार थाना में मुकदमा पंजीकृत कराया था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। इधर बिहार पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी अंगुली उठ रही है। तीन नवंम्बर को लापता हुयी किरन को बिहार पुलिस खोजने का प्रयास नहीं किया। यदि प्रयास किया होता तो किरन की जान बच सकती थी।

चार बच्चों को अनाथ कर गई किरन

पुरवा कोतवाली क्षेत्र में एक महिला का शव पुरवा - विहार मार्ग पर स्थित कोदइया खेड़ा और बेवल गांव के बीच सड़क किनारे मिला। जिसकी गोली मारकर हत्या की गयी थी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव के फोटो को सोशल मीडिया पर डालकर शिनाख्त का प्रयास किया। जिसमें उसे सफलता मिली। शव किरन पत्नी रामू पासी निवासी पोखरी थाना विहार का निकला। इस सम्बंध में रामू ने विहार थाना में मुकदमा पंजीकृत कराया था। जिसमें संताराम पुत्र बचई निवासी तख्त खेड़ा थाना विहार को नामित किया था। ग्रामीणों के अनुसार शादी के बाद रामू चंडीगढ़ काम करने के लिये चला गया। इधर उसकी अनुपस्थिति में किरन का सम्पर्क पड़ौस गांव के रहने वाले संताराम से हुआ। इसी बीच रामू की उपस्थिति में भी संताराम घर पर आया था। जिसकों किरन ने अपने मैके का रिश्तेदार बताया। किरन की मौत के बाद ससुराल और मैके में दोनो जगह मातम छा गया। किरन की मौत के बाद उसके चारों बच्चे ज्योति, प्रीति, अजय, विजय सभी अनाथ हो गये। जबकि किरन की मौत के बाद मैके में रोना पिटना मचा है।

किरन की मां ने दर्ज कराया मुकदमा

किरन की मां शिव कुमारी ने थाना में तहरीर देकर संताराम के खिलाफ बेटी की हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने मामला दर्ज जांच शुरू कर दी है। मौके पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी पुरवा बी के गौतम ने फोरेंसिक टीम को बुलाया गया। थानाध्यक्ष अरूण प्रताप सिंह ने बताया कि हाथ में रामू और किरन गुदा था और बगल में पांच सौ रूपये का फटा नोट भी पड़ा था।

आकांक्षा सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned