Video - खाद्यान्न घोटाले की नई रूपरेखा, जनसंख्या बढ़ रही लेकिन यूनिट घट रहे,

Narendra Awasthi | Updated: 14 Jul 2019, 07:59:18 PM (IST) Unnao, Unnao, Uttar Pradesh, India

- गरीबों के खाद्यान्न पर भ्रष्टाचारियों का डाका

- खाद्य सुरक्षा कागजों पर, विगत 6 माह से नहीं मिला ग्रामीणों को राशन

- शिकायत लेकर पहुंचे जिलाधिकारी आवास

उन्नाव. विगत नवंबर माह से राशन ना मिलने से परेशान ग्रामीणों ने जिलाधिकारी की चौखट पर फरियाद लगाई। इस दौरान उन्होंने बताया कि सिकंदरपुर करण विकासखंड के ग्राम सभा सुमरहा में नवंबर 2018 में कुल 416 राशन कार्ड और 1440 यूनिट थे। परंतु सुमरहा गांव के कोटेदार की मृत्यु के बाद उनके गांव का कोटा खरौली गांव के कोटेदार अनीता देवी पत्नी राजू शुक्ला के यहां संबद्ध कर दिया गया। खरौली ग्राम सभा का कोटेदार उन लोगों को राशन नहीं दे रहा है। इसलिए अपनी फरियाद लगाने के लिए जिलाधिकारी कार्यालय आए हैं। जिलाधिकारी आवास पर पूर्व प्रधान अमर सिंह ने अपना शिकायती पत्र देते हुए न्याय की गुहार। इस मौके पर सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण मौजूद थे। जिनमें महिलाएं भी शामिल हैं।

 

1040 यूनिट में 295 यूनिट शेष

इस संबंध में बातचीत करते हुए पूर्व प्रधान अमर सिंह ने बताया कि नवंबर 2018 में उनकी ग्राम सभा में 416 राशन कार्ड में 1040 यूनिट यूनिट दर्ज था। जो घटते घटते आज कुल 295 यूनिट बच गए हैं। राशन कार्ड की भी संख्या घट गई है। अब 130 अंतोदय कार्ड और 116 बीपीएल कार्ड शेष रहे गए हैं।

 

यूनिट ऊपर वाला काट रहा

उन्होंने कहा कि पूछने पर पता चलता है की यूनिट ऊपर से कट रहा है। लेकिन ऊपर कहां से कट रहा है। इसकी कोई जानकारी नहीं दे रहा है। घर में 7 यूनिट वाले परिवार में दो तो 5 लोगों के परिवार में सभी के नाम कट गए हैं। वर्तमान प्रधान पति व पूर्व ग्राम प्रधान ने कहा राशन न मिलने से गरीब दैनिक मजदूरी करने वाले लोगों के घरों में चूल्हा जलने में दिक्कत हो गई। उन्होंने जिलाधिकारी से निरस्त हुए राशन कार्ड पुनः बनवाकर सही यूनिट दर्ज कराने की मांग की है। इस मौके पर ग्रामीणों में विनय कुमार, महेश सिंह, लाली शंकर फूल सिंह, विजय दत्त, प्रदीप कुमार, महेश सहित बड़ी संख्या में पुरुष और महिला मौजूद थे।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned