2 माह से बेकरी व्यापारी अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छूट कर सीधे पहुंचा थाना, पुलिस को सुनाई  चलो आपबीती

- पुलिस ने उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया

By: Narendra Awasthi

Published: 21 Jul 2021, 12:23 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

उन्नाव. अपहरणकर्ताओं के चंगुल से 2 माह बाद छूट कर आया व्यापारी सीधे कोतवाली पहुंचा। जहां उसने अपनी आपबीती सुनाई। पुलिस को बताया कि अपहरणकर्ताओं ने 22 लाख रुपए लूट लिए। 2 माह से अपहरणकर्ता के चंगुल में था। व्यापारी की स्थिति देखकर पुलिस ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस घटना को संदिग्ध मान रही है। व्यापारिक से मिली जानकारी के आधार पर जांच हुई तो पता चला उसके ऊपर कई लोगों का कर्ज है। जिस से बचने के लिए उसने अपहरण की कहानी रची है।

गंगा घाट कोतवाली क्षेत्र का निवासी

राम किशोर उर्फ बब्बन सिंह सरदार निवासी गायत्री नगर गंगा घाट कोतवाली 3 दिन पूर्व रात में अजगैन थाना कोतवाली पहुंचा। जहां उसने पुलिस को अपनी आपबीती सुनाई। बब्बन सिंह ने बताया कि वह बेकरी का काम करता है। एक प्रॉपर्टी डीलर से जमीन खरीद कर कारखाना बनवा रहा था। शुक्लागंज के ही रहने वाले एक व्यक्ति से उसने ₹5 लाख उधार लिए थे। 18 मई को उसने प्रॉपर्टी डीलर को पैसे देने थे। राजधानी मार्ग शुक्लागंज स्थित ट्रेडर्स की दुकान के पास उसे बुलाया गया था। ₹27 लाख लेकर गया था। उसने ₹5 लाख जिससे लिए थे उसको भी देने थे। वहां पर उसे चाय पीने के बहाने घर ले गए। उसने ₹5 लाख रुपए दे दिए। लेकिन चाय पीने के बाद वह बेहोश हो गया। होश आया तो वह नवाबगंज पक्षी विहार के पास किसी शुक्ला जी के मकान में अपने को बंधक पाया। पिछले 2 महीने से वह वही बंद था। बब्बन सिंह ने बताया कि अपहरणकर्ताओं ने 22 लाख रुपए के साथ सोने की चेन, मोबाइल भी लूट लिया।

पुलिस से बताया

अजगैन थाना प्रभारी पवन सोनकर ने कहा कि बब्बल सिंह को जिला अस्पताल में गंगा घाट कोतवाली पुलिस के माध्यम से भर्ती कराया गया था उस समय वह नशे में था जांच के दौरान पता चला कि बब्बन सिंह कई लोगों से लाखों रुपए उधार लिए हैं उधारी न देना पड़े इसलिए नाटक कर रहा है। गंगाघाट कोतवाली पुलिस ने बताया कि उसे भी कोई तहरीर नहीं मिली है।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned