जिला अस्पताल के वार्ड से बुखार, सर्दी, खांसी के दो कैदियों के भागने से मचा हड़कंप

- विगत 20 अप्रैल को कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा था जेल

- जेल डॉक्टरों ने बीमार बताएं भेज दिया था जिला अस्पताल

By: Narendra Awasthi

Published: 23 Apr 2020, 04:59 PM IST

उन्नाव. जिला कारागार से उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजे गए दो बंदी वार्ड से फरार हो गए। जिसकी खबर मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। सुनना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस अधिकारी ने दोनों फरार बंदियों की गिरफ्तारी के लिए टीमों को लगा दिया। इस संबंध में बातचीत करने पर जेल अधीक्षक ने बताया कि कोतवाली पुलिस दो बंदियों को लेकर जिला कारागार आई थी। जिला कारागार डॉक्टरों द्वारा दोनों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। जिसमें बुखार, खांसी और सांस फूलने की तकलीफ सामने आई। कोविड-19 वायरस के प्रकोप को देखते हुए जिला प्रशासन ने दोनों को जिला अस्पताल के लिए कोतवाली पुलिस के साथ वापस कर दिया। जहां से दोनों फरार हो गए। इस संबंध में बातचीत करने पर क्षेत्राधिकारी नगर ने बताया कि गिरफ्तारी के लिए छह टीमों का गठन किया गया है। एक की गिरफ्तारी हो चुकी है।

 

सदर कोतवाली क्षेत्र की घटना

घटना सदर कोतवाली क्षेत्र के उमाशंकर दीक्षित संयुक्त चिकित्सालय की है। सदर कोतवाली क्षेत्र के जीजीआईसी झुग्गी झोपड़ी के निकट निवासी रोहित पुत्र लक्ष्मण व अजय उर्फ करिया पुत्र हुकुम सिंह को पुलिस ने विगत 20 अप्रैल को चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद कोतवाली पुलिस दोनों को जेल जिला कारागार ले कर चली गई। जहां पर स्वास्थ्य परीक्षण के दौरान जेल डॉक्टर ने दोनों को बीमार पाया। जिनके खांसी, बुखार और सांस फूलने की दिक्कत आ रही थी। डॉक्टर की सलाह पर दोनों को 20 अप्रैल को ही कारागार से जिला अस्पताल भेज दिया गया। जा दोनों को वार्ड में रखा गया था। वार्ड से रात में खिड़की तोड़कर रोहित और अजय सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए भाग निकले।

 

क्या कहते हैं अधिकारी

जेल अधीक्षक ने दोनों अभियुक्तों के विषय में बताया कि विगत 20 अप्रैल को कोतवाली पुलिस के गार्ड लेकर जिला कारागार आए थे। जिन्हें रिकार्डो के माध्यम से जिला अस्पताल भेज दिया गया था। उन्होंने बताया कि दोनों के खिलाफ 457/ 380/ 511 आईपीसी की धारा में अभियोग पंजीकृत किया गया। इस संबंध में बातचीत करने पर क्षेत्राधिकारी नगर यादवेंद्र यादव ने बताया कि देर रात सूचना मिली कि दो कैदी अस्पताल से भाग निकले हैं। दोनों की गिरफ्तारी के लिए छह टीमों का गठन किया गया था। एक की गिरफ्तारी हो चुकी है दूसरे की गिरफ्तारी का प्रयास जारी है।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned