भाजपा विधायक ने कहा सीबीआई ने उसके साथ नहीं किया न्याय अदालत की शरण में जायेंगे

Ruchi Sharma

Publish: Jul, 13 2018 02:45:50 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
भाजपा विधायक ने कहा सीबीआई ने उसके साथ नहीं किया न्याय अदालत की शरण में जायेंगे

कुलदीप सिंह सेंगर ने कहा राजनीतिक व्यक्तियों उनके ऊपर लगाए गए आरोप बेबुनियाद, पेशी में आए विधायक ने पत्रकारों से की बातचीत

उन्नाव. भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने कहा है कि केंद्रीय जांच ब्यूरो की जांच पर उंगली उठाते हुए कहा है कि उसने उसके साथ न्याय नहीं किया है। मैं एक राजनीतिक व्यक्ति हूं मुझे न्याय मिलना चाहिए था जो नहीं मिला। अब मुझे कोर्ट से न्याय मिलेगा। मेरे ऊपर लगाए गए सारे आरोप झूठे हैं। उन्नाव गैंगरेप मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा दूसरी चार्जशीट दाखिल करने के बाद विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए उक्त विचार व्यक्त किया।

उन्होंने कहा कि मेरे ऊपर लगे सारे आरोप बेबुनियाद हैं अब मैं अपने वकीलों से सलाह लेकर अदालत की शरण में जाऊंगा। गौरतलब एक केंद्रीय जांच ब्यूरो ने अपनी दूसरी चार्जशीट में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को दोषी मानते हुए दाखिल की है। दूसरी चार्जशीट में केंद्रीय जांच ब्यूरो ने सहआरोपी शशि सिंह को भी दोषी माना है। सीबीआई ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि गैंगरेप की घटना के वक्त शशि सिंह भी कमरे के बाहर मौजूद थी। उन्होंने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया है।


लेंगे वकीलों से सलाह मशविरा

उन्नाव दुष्कर्म मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो दूसरी चार्जशीट पास्को व अपरण मामले में अदालत में दायर की जिसमें सीबीआई ने भाजपा विधायक को वह सहआरोपी शशि सिंह दोनों को अपरहण दुराचार और पास पाक्सो एक्ट के तहत दोषी मानते हुए आरोपी बनाया था। जिसके बाद केंद्रीय जांच ब्यूरो ने भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर सहित सभी 8 आरोपियों को सीबीआई की विशेष न्यायिक अदालत में पेश किया। न्यायिक मजिस्ट्रेट ने सभी आरोपियों को आगामी 26 जुलाई तक के लिए न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया। पत्रकारों से बातचीत करते हुए भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने कहा केंद्रीय जांच ब्यूरो ने उसके साथ न्याय नहीं किया है। राजनीतिक द्वेष की भावना से लगाए गए आरोपों को सीबीआई ने सही मानते हुए चार्जशीट दाखिल किया है।


राजनीतिक व्यक्ति हूं आरोप बेबुनियाद

कुलदीप सिंह सेंगर ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा उन्हें अदालत से उम्मीद है और अपनी वकीलों से सलाह करके अदालत की शरण में जाऊंगा जहां से उन्हें न्याय मिलेगा। केंद्रीय जांच ब्यूरो ने लखनऊ की पेशी के लिए विधायक को सीतापुर जिला कारागार से अदालत लेकर आई थी। वहीं दूसरी तरफ तात्कालीन निलंबित थानाध्यक्ष अशोक सिंह भदौरिया निलंबित उपनिरीक्षक कामता प्रसाद सिंह शैलेंद्र सिंह राम शरण सिंह, विनीत मिश्रा, वीरेंद्र सिंह, शशि प्रताप सिंह को लखनऊ जेल से लाकर कोर्ट में पेश किया। न्यायिक मजिस्ट्रेट ने आगामी 26 जुलाई तक सभी को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया। इसके पहले सीबीआई ने अपनी पहली चार्जशीट में विधायक के भाई जयदीप सिंह उर्फ अतुल सिंह को चार्जशीट किया था।

Ad Block is Banned