डीजीपी साहब! कौन देगा इस महिला के सवालों के जवाब, पुलिसिया कार्रवाई की खुली पोल, देखें वीडियो

पुलिस अधीक्षक से पूछ रही है महिला, क्या मरने के बाद ही यूपी पुलिस करती है कार्रवाई, उन्नाव का मामला...

By: Hariom Dwivedi

Published: 13 May 2018, 06:20 AM IST

उन्नाव. 'हम मर जाए तभी यहां सुनवाई होगी। मैं अपनी 13 साल की लड़की को समाज में घट रही घटनाओं के भय से अपने मायके में छोड़कर आई हूं। यहां पर जब कांड हो जाए तभी कार्रवाई होती है। अदालत में मुकदमा चल रहा है। जिसमें भी तमाम पैसे खर्च हो रहे हैं। उन्हें एक पैसे की मदद नहीं मिल रही है। मदद नहीं मिल रही है तो कम से कम उनसे लिया भी तो न जाए। सिलाई दुकान चला कर मैं किसी प्रकार में बेटी और बेटे का पालन पोषण कर रही हूं, पढ़ा-लिखा रही हूं।' अजगैन थाना क्षेत्र के नवाबगंज पछियांव निवासी संतोषी कश्यप पुत्री बल्लू पत्नी सुनील कश्यप पुलिस अधीक्षक कार्यालय में चीख-चीखकर मुख्यालय में बैठे आला अधिकारी से उपरोक्त बातें पूछ रही हैं।

घंटों बैठने के बाद नहीं होती है सुनवाई
महिला ने पुलिस अधीक्षक से सीधे सवाल किया यह कहां का कानून है? थाना में 8 - 8 घंटे बैठे रहती हूं। पुलिस कहती है कि अभी चल रहा हूं, उन्हें बुलाता हूं। लेकिन कोई कार्रवाही नहीं की जाती। थानाध्यक्ष रोज कहते हैं कि मैं अभी बुलाता हूं। लेकिन होता कुछ नहीं है। क्या मैं रोज जाकर थाने में बैठी रहूं। SP ऑफिस में बैठे उच्च अधिकारी भी कहते हैं कि इसमें मैं क्या कर सकता हूं? इनको इस तरह से कहना चाहिए? दो बार पुलिस अधीक्षक कार्यालय में शिकायती पत्र दे चुकी हूं। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद एसपी ऑफिस से उन्हें महिला थाना भेजा जाता है, जहां भी उन्हें राहत नहीं मिलती है और आरोपियों को नहीं बुलाया जाता है। उनके पास संदेश आ रहा है कि उपरोक्त मामले में समझौता करा दिया गया है। जो सरासर गलत है।

ससुराली पक्ष द्वारा महिला को किया जा रहा प्रताड़ित
संतोषी कश्यप अदालत में विगत दो वर्षों से वह अपने पति सुनील कश्यप से दहेज उत्पीड़न व गुजारा भत्ता का मुकदमा लड़ रही है। इस संबंध में संतोषी कश्यप ने बताया कि विगत 24 अप्रैल को उसका पति सुनील कश्यप अपने सहयोगी नीलम पुत्री नरेश, विनोद, दिनेश पुत्रगण छोटा, दीपक पुत्र नरेश, सोनम पुत्री नरेश, पंडित, नशेबाज पुत्रगण मैंकू, प्रशांत पुत्र विनोद, नगमा पुत्री अज्ञात, मुन्नी देवी पत्नी बाबूलाल ने मिलकर उसके साथ मारपीट की और उसका रुपया और मोबाइल भी छीन लिया। साथ ही जान से मारने की धमकी दी। इस संबंध में उन्होंने अजगैन थाना से लेकर उच्चाधिकारियों तक शिकायती पत्र दिए।

दबंग ससुरालीजनों ने पुलिस से मिलकर नहीं होने दी कोई कार्रवाई
आरोप है कि दबंग ससुरालीजनों ने पुलिस से मिलकर कोई कार्यवाही नहीं होने दी। इस संबंध में उसने जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत की थी। जिसे भी निस्तारण कर दिया दिखाया जा रहा है। जो कि सरासर गलत है। संतोषी कश्यप ने बताया कि विगत 10 मई प्रशांत पुत्र विनोद निवासी नवाबगंज पक्षियांव थाना अजगैन ने पहले मोटरसाइकिल से उसे धक्का देकर गिरा दिया। विरोध करने पर प्रशांत उस पर थप्पड़ों की बरसात कर दी। जिससे वह जमीन पर गिर पड़ी। साथ खड़ा उनका 10 वर्षीय पुत्र ध्रुव यह सब देख कर रोने लगा। संतोषी कश्यप ने बताया कि बीच बाज़ार हुई घटना के समय मौके पर भीड़ देखकर प्रशांत भाग निकला। पुलिस अधीक्षक को दिए शिकायती पत्र में संतोषी कश्यप ने बताया है कि कभी भी किसी भी समय उसके साथ कोई अप्रिय घटना घट सकती है। उन्होंने पुलिस अधीक्षक से मामला दर्ज कर कार्रवाई की मांग की है।

 

देखें वीडियो...

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned