scriptLife sentence of the accused of raping and murder upheld | इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 80 वर्षीय वृद्धा से दुष्कर्म कर हत्या के आरोपी का आजीवन कारावास की सजा बरकरार | Patrika News

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 80 वर्षीय वृद्धा से दुष्कर्म कर हत्या के आरोपी का आजीवन कारावास की सजा बरकरार

कोर्ट ने कहा कि परिवार के सदस्यों की गवाह के रूप में जांच करने पर कानून में कोई रोक नहीं है। इसके साथ ही गवाह के साक्ष्य पर भरोसा किया जा सकता है बशर्ते उसकी विश्वसनीयता भरोसेमंद हो। मामले में यह आदेश न्यायमूर्ति सुनीत कुमार व न्यायमूर्ति विक्रम डी. चौहान की खंडपीठ ने मनवीर की अपील को खारिज करते हुए दिया है।

Updated: May 19, 2022 10:44:56 am

प्रयागराज: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दुष्कर्म और हत्या जैसे मामले की सुनवाई करते हुए उम्रकैद की सजा बरकरार रखा है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा कि रिश्ता या संबंध गवाह की विश्वसनीयता को प्रभावित करने वाला कारक नहीं है। उसके द्वारा दिया गया साक्ष्य विश्वसनीय होना चाहिए। हाईकोर्ट ने 80 वर्ष की वृद्धा से दुष्कर्म व हत्या के आरोप में आरोपी की आजीवन कारावास की सजा को बरकरार रखा है।
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 80 वर्षीय वृद्धा से दुष्कर्म कर हत्या के आरोपी का आजीवन कारावास की सजा बरकरार
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 80 वर्षीय वृद्धा से दुष्कर्म कर हत्या के आरोपी का आजीवन कारावास की सजा बरकरार
मामले के कोर्ट ने कहा कि परिवार के सदस्यों की गवाह के रूप में जांच करने पर कानून में कोई रोक नहीं है। इसके साथ ही गवाह के साक्ष्य पर भरोसा किया जा सकता है बशर्ते उसकी विश्वसनीयता भरोसेमंद हो। मामले में यह आदेश न्यायमूर्ति सुनीत कुमार व न्यायमूर्ति विक्रम डी. चौहान की खंडपीठ ने मनवीर की अपील को खारिज करते हुए दिया है।
मामले में आरोपी के खिलाफ गौतमबुद्धनगर के सेक्टर 49 में 80 वर्षीय वृद्ध महिला की दुष्‍कर्म के बाद उसकी हत्या के आरोप में 2006 में एफआइआर दर्ज कराई गई थी। सत्र न्यायालय ने छह दिसंबर 2007 को दिए आदेश में दोषी मानते हुए उम्रकैद और 10 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई।
यह भी पढ़ें

इलाहाबाद हाईकोर्ट का बड़ा फैसला: अंतरजातीय विवाह करने वाले लड़की और लड़का को पुलिस दे सुरक्षा

याची ने सत्र न्यायालय के फैसले को हाई कोर्ट में चुनौती दी। कोर्ट ने कहा कि आरोपी का घर में जाना शिकायतकर्ता और परिवार के सदस्यों को देखने के बाद उसके कमरे को बंद करना एक प्रासंगिक तथ्य था, जिससे इंगित होता है कि आरोपी ने अपराध किया है। इसी मामले में आरोपी की ओर से आपत्ति दर्ज कराई गई कि मामले में दोनों गवाह पीड़िता के रिश्तेदार हैं। इसलिए उनकी गवाही पर भरोसा नहीं किया जा सकता है।
कोर्ट ने कहा कि गवाह मृतक के परिवार के सदस्य होने के नाते आरोपी को झूठा फंसाने की संभावना रखते हैं, इस आधार पर उनके साक्ष्य को खारिज नहीं किया जा सकता है। कोर्ट ने कहा कि परिवार के सदस्यों की गवाह के रूप में जांच करने पर कानून में कोई रोक नहीं है। घटना ऐसी जगह पर हुई जहां स्वतंत्र गवाह उपलब्ध नहीं हो सकता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

सीढ़ियां से उतरने के दौरान गिरे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव, कंधे की हड्डी टूटीदिल्ली और पंजाब में दी जा रही मुफ्त बिजली, गुजरात में क्यों नहीं?: केजरीवालहैदराबाद में बोले PM मोदी- 'तेलंगाना में भी जनता चाहती है डबल इंजन की सरकार, जनता खुद ही बीजेपी के लिए रास्ता बना रही'पीएम मोदी ने लंबे समय तक शासन करने वाली पार्टियों का मजाक उड़ाने के खिलाफ चेताया, कहा - 'मजाक मत उड़ाएं, उनकी गलतियों से सीखें'Rajasthan: वाहन स्क्रैपिंग सेंटर के लिए एक एकड़ जमीन जरूरीAchievement : ऐसा क्या किया पुलिस ने की मिला तीन लाख का ईनाम और शाबाशी ?Mumbai News Live Updates: फ्लोर टेस्ट से पहले शिवसेना का नया दांव, स्पीकर राहुल नार्वेकर से की 39 विधायकों के खिलाफ एक्शन की मांगहनुमानजी के नाम पर वोट मांग रहे कमल नाथ! भाजपा ने की शिकायत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.