पूर्वांचाल की जेलों पर कोरोना का अटैक, मिजार्पुर में 173 और भदोही जेल में 58 कोरोना संक्रमित

इसके पहले आजमगढ, बलिया, सोनभद्र, वाराणसी अस्थायी जेल, गोरखपुर और बस्ती की जेलों में पाए जा चुके हैं कोरोना के मरीज।

वाराणसी. कोरोना वायरस संक्रमण का दायरा लगातार बढ़ता चला जा रहा है। यूपी की जेलें भी कोरोना के हमले से नहीं बच पायी हैं। पूर्वांचल में भी जेलों में संक्रमण की रफ्तार तेज हो गयी है। यहां आजमगढ़, सोनभद्र और बलिया के बाद अब मिर्जापुर और भदोही की जेलों में भी बड़े पैमाने पर कैदियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है, जिसके बाद जेल प्रशासन में हड़कम्प की स्थिति है। जेल प्रशासन की ओर से सभी को तत्काल आइसोलेट करने का इंतजाम किया गया और जिला कारागार को सेनेटाइज कराया जा रहा है।

 

बुधवार को जिला कारागार में डिप्टी जेलर व सिपाहियों के बाद देर रात आयी आखिरी रिपोर्ट में मिर्जापुर में कुल 196 कोरोना पाॅजिटिव सामने आए, जिनमें से अकेले 173 मिर्जापुर जिला जेल के कैदी और कर्मचारी रहे। इसी तरह मंडल के ही पड़ोसी जिले भदोही में भी जिला जेल से 58 कोरोना संक्रमित सामने आए हैं। जेल में इतने संक्रमितों की संख्या सामने आते ही जेल और जिला प्रशासन दोनों हरकत में आए तत्काल संक्रमितों को अलग कर उन्हें आइसोलेट करने की व्यवस्था की गयी। इसके अलावा पूरी जेल को सेनेटाइज कराया गया।

 

 

बताते चलें कि पूर्वांचल की जेलों में बड़े पैमाने पर कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं। अभी हाल ही में बलिया, सोनभद्र, आजमगढ़ की जेलों के बाद अब मिर्जापुर और भदोही जेल में कोरोना का विस्फोट हुआ है। मिर्जापुर में 173 और पड़ोसी जिले भदोही की जेल में 58 बंदी और कर्मचारी बुधवार को संक्रमित मिले हैं। बलिया जिले में ही करीब पौने दो सौ से अधिक कैदियों और जेल स्टाफ के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हो चुकी है। इसके पहले आजमगढ़ में 12, सोनभद्र में 17, वाराणसी की अस्थायी जेल में एक साथ 18, गोरखपुर व बस्ती में दो-दो कैदी संक्रमित पाए जा चुके हैं। कैदियों को जेलों में ही अलग से वार्ड बनाकर उन्हें आइसोलेट कर उनका इलाज किया जा रहा है।

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned