वाराणसी. जिला जेल में अब 30 की जगह 50 सीसीटीवी कैमरे लगाये जायेंगे। जेल में जाने से पहले जिन जगहों पर बंदियों व मुलाकातियों की तलाशी ली जाती है वहां पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्देश दिया गया। शनिवार को एडीएम सिटी विनय कुमार, डीआईजी जेल विन्ध्याचल यादव व एसपी सिटी दिनेश सिंह ने जिला जेल की सुरक्षा व्यवस्था की जांच की।
यह भी पढ़े:-काशी विद्यापीठ में छात्रसंघ चुनाव 14 को, MGKVP APP से भी मिलेगी बूथ की जानकारी

निरीक्षण के दौरान अधिकारियों को पता चला कि जेल के पिछले हिस्से से मोबाइल फेंकने की घटना हो चुकी है। इस पर अधिकारियों ने हुकुलगंज वाले मार्ग पर स्थित जेल की जर्जर चहारदीवारी को मजबूत करने को कहा है। चहारदीवारी के पास एक और दीवार बनायी जायेगी। इससे बाहर से जेल के अंदर मोबाइल फेंकना संभव नहीं होगा। जेल के मुख्य द्वार पर पीएससी तैनात रहती है अब पीएससी के जवानों की ड्यूटी कमजोर चहारदीवार वाली जगह भी लगायी जायेगी। निरीक्षण के दौरान बैरक में सर्च अभियान व चेकिंग प्वाइंट की संख्या बढ़ाने को भी निर्देश दिया गया है। बताते चले कि बागपत जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद जेल सुरक्षा को लेकर सीएम योगी सरकार की आंख खुल गयी है। पूर्व डीजीपी सुलखान सिंह के नेतृत्व में जेल सुरक्षा की समीक्षा के लिए कमेटी का भी गठन किया गया है। बनारस की जिला जेल में कई बार बवाल हो चुका है इसलिए सुरक्षा की दृष्टि से यह जेल बेहद संवेदनशील है। शासन के निर्देश पर जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने एडीएम सिटी को सुरक्षा व्यवस्था की जांच के लिए भेजा गया था।
यह भी पढ़े:-इसलिए शिवपाल यादव ने पहले बनाया मोर्चा, बाद में किया नयी पार्टी के लिए आवेदन

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned