शहर के रिक्शा चालकों पर कसा शिकंजा, नगर निगम ने लागू किया ये नियम

अवैध रूप से रिक्शा चलाने पर लगेगी लगाम।

By: Ajay Chaturvedi

Published: 06 Sep 2018, 11:38 AM IST

वाराणसी. स्थानीय प्रशासन का डंडा अब रिक्शा चालकों पर चलने जा रहा है। अब अवैध तरीके से रिक्शा चलाने वालों पर होगी सख्ती। पकड़े जाने पर लगेगा दंड। पहले से ही अति संवेदनशील शहर वाराणसी की सुरक्षा के तहत लिया गया है यह फैसला। ऐसे में अब जो चाहे वही नहीं करा पाएगा अपना पंजीकरण।

खुफिया रिपोर्ट के आधार पर लिया गया फैसला
बतादें कि शहर बनारस पहले से ही अति संवेदनशील है। पांच-पांच आतंकी घटनाएं हो चुकी हैं इस शहर में। ऐसे में स्थानीय प्रशासन ने अब फूंक-फूंक कर हर कदम रखना शुरू किया है और इसके तहत कानून कि पहली चोट रिक्शा चालकों पर पड़ने जा रही है। यहां यह भी बता दें कि रिक्शा चालकों के लिए नगर निगम से लाइसेंस बनता है। अब तक कोई भी लाइसेंस बनवा लेता था। बताया जाता है कि इसमें बंगलादेशी भी बड़ी तादाद में शामिल हैं जिन्होंने रिक्शा चलाने का लाइसेंस हासिल कर लिया है। पुलिस भी कई रिक्शा चालकों को आपराधिक घटनाओं में शामिल पा चुकी है। ऐसे में पुलिस की खुफिया रिपोर्ट के आधार पर नगर निगम ने तय किया है कि अब रिक्शा चालकों के लाइसेंस के लिए आधार अनिवार्य होगा।

पुलिस ने नगर निगम को भेजा है पत्र
पुलिस ने नगर निगम को पत्र भेज कर कहा है कि बिना व्यापक जांच-पड़ताल के किसी का भी रिक्शा चालक के रूप में लाइसेंस कतई न बनाया जाए। पुलिस प्रशासन के इस पत्र के मिलने के बाद नगर आयुक्त डॉ नितिन बंसल ने पंजीकरण (लाइसेंस बनवाने) के लिए आधार को अनिवार्य कर दिया है।

नगर निगम कराएगा सर्वे
पंजीकरण के लिए आधार कार्ड अनिवार्य करने के साथ ही नगर निगम प्रशासन जोनवार टीम गठित कर रिक्शा चालकों का सर्वे कराएगा। इसके तहत बिना लाइसेंस चलने वाले रिक्शा चालकों की धरपकड़ होगी। पंजीयन रद्द करने के साथ ही दंडात्मक कार्रवाई होगी। जुर्माना भी लगाया जाएगा।

रजिस्ट्रेशन का तरीका
अब तक रिक्शा चलाने का लाइसेंस हासिल करने के लिए नगर निगम के निर्धारित प्रोफार्मा पर फार्म भरा जाता था। फोटो और पहचान पत्र (आईडी कार्ड) के आधार पर लाइसेंस बन जाता था। लाइसेंस के लिए निर्धारित शुल्क तय है। यह सारी प्रक्रिया पूरी करने के बाद रिक्शे का लाइसेंस प्लेट व चालक का परिचय पत्र जारी किया जाता रहा है। अब इन सभी डाक्यूमेंट के साथ आधार कार्ड भी लगाना होगा।

शहर में चलने वाले अधिकृत रिक्शा चालकों का रिकार्ड
-अप्रैल 2018 से अब तक महज 50 रिक्शा चालकों का रजिस्ट्रेशन हुआ है
-300 रुपये है रिक्शे का रजिस्ट्रेशन शुल्क
-4100 से अधिक हैं रिक्शों का बना है लाइसेंस
-1710 रिक्शा चालकों का रजिस्ट्रेशन है
-हर साल कराना होता है लाइसेंस का नवीनीकरण

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned