वाराणसी और कोलकाता के बीच एयर इंडिया की फ्लाइट, इस दिन करें सफर

वाराणसी और कोलकाता के बीच एयर इंडिया की फ्लाइट, इस दिन करें सफर
एयर इंडिया का विमान

Ashish Kumar Shukla | Updated: 11 Nov 2017, 04:50:59 PM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

बहुत दिन पुरानी मांग आखिरकार हुई पूरी, सप्ताह में चार दिन भरेगी उड़ान

वाराणसी. एयर इंडिया ने वाराणसी और पश्चिम बंगाल के लोगों को बड़ी सौगात देते हुए। वाराणसी और कोलकाता के बीच सीधी विमान सेवा शुरू करने का फैसला किया है। जो 28 नवंबर से शुरू होगी। इसके लिए इसके लिए डीजीसीए (नागर विमानन निदेशालय) ने हरी क्षंडी दे दी है।

 

जीडीसीए का अप्रूवल मिलने के बाद अब 28 नवंबर से एयर इंडिया के इस विमान की सेवा यात्रियों को 28 नवंबर से मिलनी शुरू हो जायेगी। एआई 421 वाराणसी से दोपहर 12:10 बजे चलकर 1:20 बजे कोलकाता पहुंचेगी। यही विमान एआई 422 बनकर दोपहर 2:30 बजे कोलकाता से चलकर 3:30 बजे वाराणसी पहुंचेगी।

सालों पुरानी मांग हुई पूरी
बतादें कि वाराणसी और कोलकाता के बीच एयर इंडिया के फ्लाइट्स की मांग बहुत दिनों से की जा रही थी। पर इसके लिए जीडीसीए का अप्रूवल न मिलने के कारण ये मांग पूरी नहीं हो पा रही थी। जैसे ही जीडीसीए ने इसके लिए अप्रूवल दिया। वैसे ही वाराणसी और पश्चिम के लोगों की सालों पुरानी मांग पूरी हुई।

 

सप्ताह में चार दिन भरेगी उड़ान

एयर इंडिया की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि एयर इंडिया का यह विमान सप्ताह में चार दिन मंगलवार, गुरूवार, शुक्रवार और रविवार को संचालित होगा। इससे सीधी विमान सेवा का लाभ दोनों ओर के यात्रियों को मिलेगा।

पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
वाराणसी और कोलकाता के बीच शुरू होने वाली इस सीधी विमान सेवा से दोनों तरफ के पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही कम समय में यात्री अपने गंतव्य तक आसानी में पहुंच सकेंगे। बतादें की बनारस और कोलकाता धार्मिक दृष्टिकोण से भी बहुत संपन्न नगरी है। इस सेवा से यहां पर्यटकों की संख्या में बड़ी ईजाफा होगा।

 

संगीत के विस्तार का भी बेहतर मौका
इस विमान सेवा से बनारस और कोलकाता के बीच जो बड़ा लाभ होगा ये कि दोनों ही स्थान संगीत के लिए देश में काफी महत्वपूर्ण हैं। इस सीधी विमान सेवा से जहां संगीत की पढ़ाई करने वाले छात्र यहां आसानी से पहुंच सकेंगे। वहीं कलाकारों के लिए भी पहुंचने का बेहतर विकल्प हुआ है।

 

व्यवसाय को बढ़ावा
इस विमान सेवा का लाभ व्यवसायी वर्ग को खासा मिलेगा। जिससे बनारस की साड़ी का कारोबार और कोलकाता के बाजारों का लाभ भी दोनों ओर मिल पायेगा।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned