Lunar Eclipse: ग्रहण में गर्भवती महिलाएं भूलकर भी न करें ये काम, नहीं तो जिंदगी भर भुगतेंगी परिणाम

ग्रहण के समय चंद्रमा लाल रंग का दिखाई देगा, इसका नाम है सुपर ब्लड वूल्फ मून

By: sarveshwari Mishra

Updated: 19 Jan 2019, 04:02 PM IST

वाराणसी. 21 जनवरी को 2019 का पहला चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है। जिसका नाम सुपर ब्लड वूल्फ मून है। यह भारत में नहीं दिखाई देगा लेकिन इसका असर इधर होगा। ग्रहण के समय चंद्रमा लाल रंग का दिखाई देगा। बता दें कि यह चंद्र ग्रहण भारत में नहीं बल्कि और दक्षिण अमेरिका महाद्वीप, यूरोप, अफ्रीका और मध्य-पूर्व में कुछ देशों में ही दिखाई देगा।


चंद्र ग्रहण का समय
चंद्र ग्रहण सुबह 09:03:54 से 12:20:39 बजे तक रहेगी। वहीं भारतीय समयानुसार यह 10.11 बजे से शुरू होकर 11.12 तक रहेगा। वैज्ञानिक इसे सुपर ब्लड वूल्फ मून का नाम दे रहे हैं। इस दिन आसमान में खगोलीय घटना का अद्भुत नजारा देखने को मिलेगा।


चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाएं न करें ये काम
1. चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को घर से बाहर निकलने से बचना चाहिए।
2. ग्रहण को देखने से बचना चाहिए।
3. सिलाई का काम करने से बचना चाहिए और ना ही चाकू से किसी फल या सब्जी को काटें।
4. बिस्तर पे सीधे लेटना चाहिए। इस दौरान मन ही मन ॐ नमो भगवते वासुदेवाय मंत्र का जप करें।
5. ज्यादा मौन रहने का प्रयास करें। मस्तिष्क को शांत रखते हुए भगवान में ध्यान लगाएं।

ग्रहण समाप्त होने पर क्या करें-
1. ग्रहण लगने के बाद स्‍नान करना चाहिए जिससे सूतक का असर खत्म हो जाए।
2. ग्रहण समाप्त होने पर स्नान करके मंदिर की मूर्ति को गंगा जल से धोकर स्वच्छ करें फिर पूजन और भगवान का भोग लगाकर दान करें और उसके बाद भोजन ग्रहण करें।

sarveshwari Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned