बीएचयू का एक और छात्र लापता, फरवरी में लापता छात्र को आज तक नहीं ढूंढ पाई है पुलिस

वाराणसी में काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) का एक और छात्र शिब्लू लापता हो गया है। उसके परिजनों ने पुलिस थाने में शिब्लू के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज करायी है। बीएचयू से छात्र के लापता होने का यह पहला मामला नहीं है। इसके पहले फरवरी में भी बीएचयू का एक छात्र शिवकुमार लापता है। उसे पुलिस अपने साथ ले गई थी, उसके बाद से उसका पता नहीं चल रहा है।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

वाराणसी. पुलिस अभी एक छात्र को ढूंढ नहीं पाई थी कि काशी हिंदू विश्वविद्यालय का एक और छात्र लापता हो गया। लापता हुआ छात्र शिब्लू अली बिहार के कैमूर जिले का रहने वाला है। बीए प्रथम वर्ष का छात्र शिब्लू 27 अगस्त को अपने दस्तावेज जमा करने बीएचयू आया था और उसके बाद से लापता है। परिजनों ने उसके लापता होने की शिकायत स्थानीय लंका थाने में की गई है, जिसके बाद पुलिस छात्र की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर उसका पता लगाने में जुटी है।

 


परिजनों का कहना है कि शिब्लू से आखिरी बार उनकी बात 27 अगस्त को हुई थी। उस दिन शाम करीब चार बजे उसने किसी और के फोन से बात की थी। तब से ही शिब्लू का मोबाइल भी बंद है, और उसका कोई पता नहीं। उधर पहले ही एक छात्र की गुमशुदगी पर हाईकोर्ट की नाराजगी झेल रही पुलिस शिकायत मिलने के बाद शिब्लू की तलाश में जुट गई है। स्थानीय लंका थानाध्यक्ष के मुताबिक छात्र के पोस्टर जारी कर पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

 


बताते चलें कि शिब्लू के पहले बीएचयू का बीएसएसी सेकेंड ईयर का छात्र शिवकुमार पिछले छह महीने से लापता है। शिवकुमार को लंका थाने की पुलिस ही फरवरी में थाने लाई थी, जिसके बाद वह लापता है। उसके परिजनों ने बेटे का पता लगाने के लिये काशी की गलियों की खाक छानी, अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर काटे। हर जगह से हारकर उन्होंने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की। इसके बाद हाईकोर्ट ने इस मामले में नाराजगी दिखाते हुए वाराणसी के एसएसपी को तलब किया और 22 सितम्बर तक छात्र को ढूंढने का अल्टीमेटम दिया है।

 

 

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned