BHU के बरकछा परिसर में शुरू हुई स्वास्थ्य सेवा, स्वास्थ्य राज्यमंत्री ने किया OPD का लोकार्पण

BHU के बरकछा परिसर में शुरू हुई स्वास्थ्य सेवा, स्वास्थ्य राज्यमंत्री ने किया OPD का लोकार्पण

Ajay Chaturvedi | Publish: Sep, 09 2018 09:27:40 PM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

कुलपति प्रो भटनागर ने पेयजल के लिए परिसर में गंगा जल लाने का रखा प्रस्ताव।

वाराणसी. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के बरकछा, मिर्जापुर स्थित राजीव गांधी दक्षिणी परिसर में रविवार से शुरू हो गई ओपीडी (बहिरंग स्वास्थ्य सेवा)। साथ ही दो छात्रावास और शिक्षक आवास का भी लोकार्पण हुआ। इसके लिए चार नए भवन बनाए गए हैं जिसमें 16 फ्लैट हैं।


विश्वविद्यालय के राजीव गांधी दक्षिणी परिसर स्थित व्याख्यान संकुल में आयोजित कार्यक्रम में रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल ने छात्रावासों और शिक्षक आवास का लोकार्पण किया। इसमें हिमाद्रि महिला छात्रावास और कैलाश छात्रावास शामिल हैं। स्वास्थ्य राज्यमंत्री ने स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के क्रम में बहिरंग सेवा का भी लोकार्पण किया। इस मौके पर स्वास्थ्य एवम परिवार कल्याण मंत्री पटेल ने कहा कि भविष्य में स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में यह परिसर मुख्य परिसर की तरह अग्रणी भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि इससे मिर्जापुर के साथ ही निकटवर्ती राज्यों मसलन, झारखंड, छत्तीसगढ़ तथा मध्यप्रदेश के लगभग सात करोड़ की आबादी को लाभ मिलेगा।


समारोह के अध्यक्ष विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. राकेश भटनागर ने परिसर की विकास यात्रा में इसे महत्वपूर्ण कड़ी बताया। उन्होंने जल संकट को दूर करने के लिहाज से मंत्री से मिर्जापुर से गंगा जल को परिसर में लाने के लिए केंद्र सरकार के सहयोग की अपेक्षा की। सर सुन्दर लाल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक प्रो. विजय नाथ मिश्र ने कहा कि बहिरंग सेवा के अंतग॔त एलोपैथी, आयुर्वेद तथा नेचुरोपैथी के चिकित्सक नियमित रूप से अपनी सेवा प्रदान करेंगे। इसका लाभ परिसर के छात्र-छात्राओं के साथ ही जिले के मरीजों को भी मिलेगा।

इस मौके पर दक्षिणी परिसर की आचार्य प्रभारी प्रो. रमादेवी निम्मानापलली, चिकित्सा विज्ञान संस्थान के निदेशक प्रो. वी के शुक्ला, सर सुंदर लाल चिकित्सालय के चिकित्सा अधीक्षक प्रो. विजय नाथ मिश्र मौजूद रहे। संचालन पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान संकाय के सहायक प्राध्यापक डॉ उत्कर्ष त्रिपाठी ने किया जबकि छात्र सलाहकार डॉ अजय कुमार सिंह ने आभार जताया।

Ad Block is Banned