scriptArtisans of Varanasi and Leh Ladakh will prepare pashmina shawls and saris in Kashi | बनारस और लेह-लद्दाख के कारीगरों की बेजोड़ उपलब्धि, अब काशी के बाजारों में मिलेगी यहीं बनी पशमीना की शाल-साड़ी और बहुत कुछ... | Patrika News

बनारस और लेह-लद्दाख के कारीगरों की बेजोड़ उपलब्धि, अब काशी के बाजारों में मिलेगी यहीं बनी पशमीना की शाल-साड़ी और बहुत कुछ...

कभी पश्मीना की शाल का जिक्र आते ही लेह-लद्दाख, जम्मू-कश्मीर की छवि सामने आ जाती रही। लेकिन अब वो सब काशी में ही उपलब्ध होगा। काशी और आसपास के बुनकरों ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है। फिलहाल इन कारीगरों ने पश्मीना की दो शाल बना भी दी है जिसे काशी के सासंद और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेंट किया गया है। अब बहुत जल्द ये शाल मार्केट में उपलब्ध होगी।

वाराणसी

Published: April 09, 2022 11:54:16 am

वाराणसी. लेह-लद्दाख के कत्तिनों और वाराणसी आसपास के बुनकरों का संगम अब बहुत जल्द वो करने जा रहा है जिसकी कल्पना भी नहीं की गई थी। हां, बहुत जल्द रेशमी किनारे में बुनी पश्मीना की शाल व साड़ी अपनी गुणवत्ता और खूबसूरती से दुनिया के बाजार को आकर्षित करेगी। दो भिन्न संस्कृतियों का मिलन आकर्षक तो होगा ही रोजगार सृजन की दृष्टि से भी महत्वपूर्ण होगा।
बनारस के सर्किट हाउस में लांच हुआ काशी क्षेत्र में तैयार पश्मीना उत्पाद
बनारस के सर्किट हाउस में लांच हुआ काशी क्षेत्र में तैयार पश्मीना उत्पाद
बनारस के सर्किट हाउस में लांच हुआ काशी क्षेत्र में तैयार पश्मीना उत्पादपश्मीना शाल और स्कार्फ आयोग के शोरूमों पर उपलब्ध

बता दें कि पूर्वांचल यानी काशी और आसपासे क्षेत्र के आठ जिलों में करीब 45 हजार बुनकर हैं। ये सभी अब तक दरी, जरदोजी, वाल हैंगिंग व बनारसी साड़ी समेत अन्य उत्पादों की बुनाई करते रहे। अब खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग ने काशी क्षेत्र के बुनकरों के श्रेष्ठ हस्तकौशल के मद्देनजर उनकी आय बढ़ाने का मौका सुलभ कराने का बीड़ा उठाया है। इसके तहत ही अब पश्मीना शाल और स्कार्फ, आयोग के शोरूमों पर बिक्री के लिए उपलब्ध करा दिए गए हैं। बताया जा रहा है कि सब कुछ ठीक रहा तो दो महीने में पश्मीना और रेशमी धागे से बनी साड़ियां और अन्य उत्पाद भी बिक्री के लिए शोरूमों पर उपलब्ध हो जाएंगे।
बनारस के सर्किट हाउस में लांच हुआ काशी क्षेत्र में तैयार पश्मीना उत्पादपहली शाल पीएम को भेंट

खादी ग्रामोद्योग आयोग के चेयरमैन विनय कुमार सक्सेना ने बताया कि काशी क्षेत्र में तैयार होने वाले पश्मीना उत्पादों में किसी दूसरे धागों का मिश्रण नहीं होगा। बताया कि चार मार्च को यहां के बुनकरों द्वारा तैयार पश्मीना की दो शाल बनारस के सांसद और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेंट की जा चुकी है।
बुनकरों को मिलेगा रोजगार, आय में होगी बढोतरी

आयोग के अध्यक्ष विनय कुमार सक्सेना का कहना है कि लेह और काशी के बीच पश्मीना और रेशमी धागे से नए युग की शुरुआत हो रही है। बहुत जल्द साड़ी समेत अन्य उत्पाद यहां बनने शुरू हो जाएंगे। इससे बड़ी तादाद में बुनकरों को रोजगार मिलेगा। साथ ही उनकी आय भी बढ़ेगी। इसके लिए खादी एवं ग्रामोद्याग आयोग ने पूरा खाका खींच लिया है। इसके तहत
वाराणसी और आसपास के क्षेत्र की खादी संस्थाओं के जरिए बाजार में उपलब्ध होंगे पश्मीना उत्पाद

सर्किट हाउस में पश्मीना से बने उत्पादों की लांचिंग के मौके पर यूपी के राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार रविंद्र जायसवाल ने कहा कि अभी तक पश्मीना से उत्पादन केवल लेह-लद्दाख, जम्मू-कश्मीर की पहचान रहे। लेकिन अब वाराणसी और आसपास के क्षेत्र की खादी संस्थाओं के जरिए बाजार में उपलब्ध होंगे। इसका उद्देश्य रोजगार सृजन है।
बनारस और आसपास के क्षेत्रों के बुनकरों की संख्या

-वाराणसी - 17062

-गाजीपुर - 534

- चंदौली -6528

-भदोही - 500

- मऊ - 765

-आजमगढ़ -16835

- जौनपुर - 29
- मिर्जापुर - 1195

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

भीषण गर्मी : देश में 140 में से 60 बड़े बांधों का पानी घटा, राजस्थान के भी तीन बांधमंकीपॉक्स पर WHO की आपात बैठक में अहम खुलासा: यूरोप में अब तक 100 से अधिक मामलों की पुष्टि, जानिए 10 अपडेटJNU कैंपस में एमसीए की छात्रा से रेप, आरोपी छात्र गिरफ्तारकैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में बोले राहुल गांधी, भारत में ठीक नहीं हालात, BJP ने चारों तरफ केरोसिन छिड़क रखा हैकर्नाटक में बड़ा हादसाः बारातियों से भरी गाड़ी पेड़ से टकराई, 7 की मौत, 10 जख्मीजल्द ही कमर्शियल फ्लाइट्स शुरू करेगा जेट एयरवेज, DGCA ने दी मंजूरीमाता वैष्णो देवी के प्रमुख पुजारी अमीर चंद का निधन, जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल सहित कई नेताओं ने जताया दुखज्ञानवापी मस्जिद केसः प्रोफेसर रतन लाल की गिरफ्तारी पर हंगामा, DU में छात्रों का प्रदर्शन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.