scriptAvimukteshwaranand s fast continues on fourth day adamant on regular worship of Shivling-like figure found in Gyanvapi Campus | ज्ञानवापी परिसर में मिली शिवलिंगनुमा आकृति की नियमित पूजा पर अड़े अविमुक्तेश्वरानंद का अनशन चौथे दिन जारी, सेहत में लगातार गिरावट | Patrika News

ज्ञानवापी परिसर में मिली शिवलिंगनुमा आकृति की नियमित पूजा पर अड़े अविमुक्तेश्वरानंद का अनशन चौथे दिन जारी, सेहत में लगातार गिरावट

ज्ञानवापी परिसर में मिली शिवलिंगनुमा आकृति की नियमित पूजा पर अड़े अविमुक्तेश्वरानंद का अनशन चौथे दिन भी जारी है। स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद के आंदोलन को धार्मिकम संगठनों, संतों का समर्थन लगातार मिल रहा है। गौरक्षा महाअभियान समिति के प्रचारमंत्री स्वामी त्रिभुवन दास, महामंत्री जय प्रकाश गुर्जर सनातनी और माता कैलाशानंद गिरी महाराज ने विद्यामठ पहुंच कर समर्थन दिया है। इस बीच स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा है कि जब विचाराधीन कैदी को भोजन-पानी पहुंचता है तो विचाराधीन शिवलिंग को क्यों नहीं ?

वाराणसी

Published: June 07, 2022 10:13:05 am

वाराणसी. ज्ञानवापी परिसर में मिली शिवलिंगनुमा आकृति को आदि विश्वेश्वर का शिवलिंग बताते हुए उनकी नियमित पूजा पर अड़े अविमुक्तेश्वरानंद का अनशन चौथे दिन भी जारी है। उन्होंने इसके लिए कोर्ट में अर्जेंट प्रकृति का आवेदन भी दायर किया है जिस पर आज यानी मंगलवार को जिला जज अजय कृष्ण विश्वेश सुनवाई कर सकते हैं। इस बीच उनके इस धार्मिक आंदोलन को तमाम संत-महात्मा और धार्मिक संगठनों का समर्थन लगातार प्राप्त हो रहा है। लेकिन स्वास्थ्य में लगातार गिरवाट आ रही है। शुगर लेवल लगातार गिरता जा रहा है। इसे लेकर उनके भक्तजन काफी चिंतित हैं।
विद्यामठ में अनशनरत स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद
विद्यामठ में अनशनरत स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद
स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद के स्वास्थ्य की जांच करते डॉक्टरभगवान विश्वेश्वर को अन्न जल न मिल पाने से हृदय आहतः अविमुक्तेश्वरानंद

इस बीच अनशनरत स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा है कि भारतीय संविधान में भी प्राणधारी देवता को 3 वर्ष के बालक के समकक्ष माना जाता है। ऐसे में ज्ञानवापी क्षेत्र में प्रकट हुए भगवान आदि विश्वेश्वर को भी अन्न जल पहुंचना चाहिए। कहा कि हत्या के अपराधी को भी जब विचाराधीन कैदी के रूप में रखा जाता है तो उसके भी भोजन पानी की व्यवस्था की जाती है। ऐसे में विश्व के नाथ भगवान विश्वेश्वर को अन्न जल न मिल पाने से हृदय आहत है।
ये भी पढें- ज्ञानवापी में मिली शिवलिंगनुमा आकृति के नियमित पूजन की मांग को लेकर अविमुक्तेश्वरानंद का अनशन जारी, दंडी स्वामी, साध्वियां आईं समर्थन में

स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद के स्वास्थ्य की जांच करते डॉक्टरस्वामी अविमुक्तेश्वरानंद अपने संकल्प पर दृढ

ज्ञानवापी क्षेत्र में प्राप्त आदि विश्वेश्वर शिवलिंग की पूजा अर्चना से रोके जाने से क्षुब्ध स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद अपने संकल्प पर दृढ हैं। हालांकि उनका स्वास्थ्य निरंतर गिरता जा रहा है। सोमवार शाम चिकित्सकों की टीम ने स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद के स्वास्थ्य का परीक्षण किया। चिकित्सकों के अनुसार उनकी सेहत तेजी से गिर रही है। बावजूद इसके स्वामी अवमुक्तेश्वरानंद अपने संकल्प पर अडिग हैं। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा है कि जब तक आदि विश्वेश्वर की पूजा अर्चना आरंभ नहीं हो जाती तब तक मैं अपने संकल्प से टलने वाला नहीं।
गौरक्षा महाअभियान समिति का मिला समर्थन
इस बीच मीडिया प्रभारी संजय पांडेय ने बताया कि गौरक्षा महाअभियान समिति नई दिल्ली के प्रचारमंत्री स्वामी त्रिभुवन दास, संस्था के महामंत्री जय प्रकाश गुर्जर सनातनी और माता कैलाशानंद गिरी ने विद्यामठ पहुंच कर स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद को अपना समर्थन प्रदान किया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: उद्धव ठाकरे को बड़ा झटका, 'शिवसेना बालासाहेब' नाम से शिंदे खेमे ने बनाया नया समूहMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.