जानिये राजा भइया के जिले प्रतापगढ़ से किसे चुनाव लड़ाना चाहते हैं बाहुबली अतीक अहमद

Pratapgarh, Uttar Pradesh, India
 जानिये राजा भइया के जिले प्रतापगढ़ से किसे चुनाव लड़ाना चाहते हैं बाहुबली अतीक अहमद

बाहुबली अतीक अहमद ने प्रतापगढ़ में ढूंढा है दमदार प्रत्याशी।

वाराणसी. बाहुबली अतीक अहमद का इलाहाबाद में दबदबा और और पड़ोसी जिलों में भी उनका खासा असर माना जाता है। बाहुबली से माननीय बनने के बाद अपनी राजनैतिक ताकत बढ़ाने के लिेय अतीक अहमद लगातार पड़ोसी जिलों में अपनी जमीन तैयार करने में जुटे लेकिन अभी तक वह इसमें सफल नहीं हो पाए हैं। बावजूद इसके पड़ोसी जिलों में पांव पसारने की उनकी तमन्ना अभी भी जिन्दा है। खासतौर से वह प्रतापगढ़ और कौशाम्बी में अपना दखल चाहते हैं। राजनीतिक गलियारों में भी अतीक की महत्वकांक्षा खासी चर्चा का विषय रही है। राजा भइया के जिले प्रतापगढ़ को लेकर अतीक अहमद की महत्वकांक्षा किसी से छिपी नहीं है। वह प्रतापगढ़ से चुनाव लड़े लेकिन हार गए। बावजूद इसके वह जिले में अपनी राजनतिक दखल बनाए रखने के लिये पूरा प्रयास करते हैं।




अतीक अहमद को भले ही शिवपाल यादव ने इलाहाबाद और प्रतापगढ़ से काफी दूर कानपुर कैण्ट से टिकट दे दिया हो, लेकिन इन दोनों जिलों में वह अपना राजनैतिक दखल बनाए रखना चाहते हैं। प्रतापगढ़ में वह अपना कैण्डिडेट विधानसभा चुनाव में लड़ाना चाहते हैं। सूत्रों की मानें तो इसके लिये उन्होंने अपना कैण्डिडेट भी तय कर रखा है। प्रत्याशी उनका भाई या परिवार का कोई सदस्य नहीं। प्रतापगढ़ के रहने वाले देश में तेजी से मशहूर हो रहे शायर इमरान प्रतापगढ़ी हैं। सूत्रों की मानें तो वह इमरान की ख्याति को सपा के टिकट के साथ भुनाना चाहते हैं।



देखें अतीक का वीडियो



उन्होंने पतापगढ़ में एक कार्यक्रम के दौरान इसका इजहार भी किया था। मुख्यमन्त्री अखिलेश यादव के इमरान प्रतापगढ़ी को यश भारती से नवाजने पर भी उन्होंने सीएम की तारीफ की और यहां तक कहा कि सीएम की नजर दूर तक है। उन्होंने कार्यक्रम में कहा कि प्रतापगढ़ में राजा और रानियों के दिन लद गए। अब राजा-रानी बैलेट पेपर से बनते हैं। कहा कि हम इशारा करके जा रहे हैं प्रतापगढ़ के लोगों एक इंकलाबी नौजवान आपके बीच है जो अपनी शायरी से इंकलाब पैदा करता है। सच्चाई बोलता है। इमरान प्रतापगढ़ी आपके बीच में है आप क्यों नहीं उसे राजा बना देते। आज राजा वोट की ताकत से बनता है। इस बीच किसी ने मजाकिया लहजे में कहा कि वह चुनाव लड़ना नहीं चाहते तो अतीक ने मंच से कहा कि नहीं लड़ना चाहते तो लड़वा देव। वीडियो में सुनिये उन्होंने और क्या-क्या कहा।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned