बाहुबली विधायक सुशील ने छोड़ी विनिंग सीट

बाहुबली विधायक सुशील ने छोड़ी विनिंग सीट
mlc brijesh with mla sushil

चर्चित एमएलसी बृजेश के विधायक भतीजे की नजर मुगलसराय पर,चाची अन्नपूर्णा के लिए तैयार कर रहे सैयदरायजा में जमीन

विकास बागी

वाराणसी. बाबहुली एमएलसी बृजेश सिंह के भतीजे और कपसेठी हाउस के उभरते चुनावी मैनेजमेंट गुरु विधायक सुशील सिंह वर्तमान सकलडीलहा सीट से अबकि चुनावी बिगुल फूंकने के मूड में नहीं है। चंदौली के सकलडीहा विस क्षेत्र के वर्तमान विधायक सुशील भाजपा के रथ पर सवार होकर चंदौली की मुगलसराय सीट से कमल खिलाने की तैयारी जोर-शोर से कर रहे हैं। सुशील इन दिनों मुगलसराय क्षेत्र में तुफानी दौरे के साथ ही सैयदराजा में भी घूमते नजर आ रहे हैं। चंदौली के सैयदराजा विस क्षेत्र में वह अपने एमएलसी चाचा बृजेश सिंह की पत्नी व पूर्व एमएलसी अन्नपूर्णा सिंह के लिए सैयदराजा में चुनावी जमीन तैयार कर रहे हैं।

मोदी राज में जुड़े थे भाजपा 

सकलडीहा से निर्दल चुनाव जीतकर विधानसभा में पहुंचने वाले बाहुबली विधायक सुशील सिंह मोदी राज में भाजपा से जुड़ गए थे। लोकसभा चुनाव में सुशील सिंह भाजपा के साथ खड़े थे जिसका परिणाम उन्हें मिला, भाजपा ने अपनी टीम में शामिल कर लिया। गौरतलब है कि सुशील के पिता उदयनाथ सिंह उर्फ चुलबुल सिंह भी भाजपा एमएलसी रह चुके हैं। भाजपा में शीर्ष नेताओं में गहरी पैठ के चलते सुशील ने पार्टी में अपनी जगह बना ली। भाजपा से जुडऩे के साथ कुछ ऐसे तार जुड़ते गए कि सुशील ने अब मुगलसराय सीट से चुनाव लडऩे का मन बनाया है। मुगलसराय विस क्षेत्र को भाजपा का गढ़ माना जाता है। सुशील ने दलों में चल रही जातिगत राजनीति के समीकरण व वोट बैंक के साथ ही अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए मुगलसराय विस सीट से चुनाव लडऩे की तैयारी कर रहे हैं। भाजपा के शीर्ष नेताओं से उन्हें हरी झंडी भी मिल चुकी है। हालांकि अपनी जीती हुई सीट छोड़कर नए विस क्षेत्र में कदम रखने के पीछे की वजह बाहुबली एमएलसी चाचा बृजेश सिंह की पत्नी अन्नपूर्णा भी हैं। चाची को अपने साथ विधानसभा पहुंचाने की जिम्मेदारी भी सुशील पर ही है। 

सकलडीहा या सैयदराजा से लड़ सकती हैं चुनाव

चर्चित एमएलसी बृजेश सिंह की पत्नी व पूर्व बसपा एमएलसी अन्नपूर्णा सिंह सैयदराजा से बसपा के टिकट पर चुनाव लडऩे की इच्छुक हैं। हालांकि बसपा ने यहां से पहले ही चर्चित विनीत सिंह को टिकट दे रखा है। बृजेश कुनबे को फिलहाल यकीन है कि अब भी उन्हें सैयदराजा से हाथी की सवारी का मौका मिल सकता है। हालांकि बृजेश सिंह के कुनबे ने सैयदराजा के साथ ही साथ सकलडीहा के लिए भी बसपा से टिकट मांगा है। उम्मीद है कि बसपा उन्हें सकलडीहा से टिकट थमा दे। हालांकि बृजेश के कुनबे का पूरा जोर है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के खिलाफ विवादित चुनावी पोस्टर सोशल मीडिया पर जारी करने वाले विनीत का सैयदराजा से पत्ता साफ हो जाए और वह चंदौली छोड़कर किसी और जिले में अपनी राजनीतिक जमीन तैयार करें।  हालांकि सैयदराजा सीट तब भी बृजेश कुनबे के लिए कांटे का ताज है। ठाकुर बाहुल्य इस विस सीट पर चर्चित विधायक मनोज सिंह डब्ल्यू का कब्जा है। 

राजनीतिक बदले की आग में झुलस रहा कुनबा

सूत्रों की माने तो सैयदराजा से अन्नपूर्णा सिंह के चुनाव लडऩे की इच्छा के पीछे राजनीकि बदले की आग है जो बाहुबली एमएलसी बृजेश के परिवार को अंदर ही अंदर झुलसा रही है। वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में सैयदराजा के वर्तमान विधायक मनोज सिंह डब्लयू ने माफिया से माननीय का चोला पहनने को आतुर बृजेश सिंह को चुनाव में हरा दिया था। चुनाव में हार के बाद बृजेश ने जब अबकि विधान परिषद के रास्ते सफेदपोश का चोला पहनने की तैयारी शुरू की तो विरोधी दल से मनोज की बहन मीना सिंह सामने खड़ी हो गईं। हालांकि बृजेश को विधान परिषद जाने से मनोज और उनका परिवार रोक नहीं पाया। इस जीत ने बृजेश के परिवार के लिए संजीवनी का काम किया है और इसीलिए सुशील सिंह और बृजेश समर्थक अपने-अपने तरीके से सैयदराजा सीट पर अभी से अन्नपूर्णा सिंह के लिए राजनीतिक जमीन तैयार कर रहे हैं। 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned