वाराणसी. पुलिस लाइन में गणतंत्र दिवस के अवसर पर क्राइम ब्रांच प्रभारी विक्रम सिंह का विशिष्ट कार्य करने के लिए सम्मान किया गया है। राज्यमंत्री डा.नीलकंठ तिवारी ने क्राइम ब्रांच प्रभारी को पदक व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया है। विक्रम सिंह ने कुछ दिन पूर्व ही क्राइम ब्रांच की कमान संभाली है। 21 जनवरी को क्राइम ब्रांच ने फूलपुर थाना क्षेत्र के रमईपुर-मंगारी मोड़ पर मुठभेड़ के बाद 50 हजार के इनामी बदमाश धर्मेन्द्र नट व उसके गैंग के चार अन्य बदमाशों को पकडऩे में सफलता पायी थी। इसके बाद एसएसपी आरके भारद्वाज ने क्राइम ब्रांच प्रभारी व उनकी टीम को 10 हजार रुपये नगद पुरस्कार दिया था। इसके बाद २२ जनवरी को 25 हजार के इनामी बदमाश ने अशोक यादव ने बीएचयू के सर सुन्दर लाल अस्पताल के चिकित्सक से रंगदारी नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी थी। इसकी जानकारी मिलते ही क्राइम ब्रांच की टीम सक्रिय हो गयी थी और कुछ घंटों बाद ही क्राइम ब्रांच व इनामी बदमाश अशोक यादव के बीच लंका थाना क्षेत्र के लौटूबीर इलाके में मुठभेड़ हो गयी। दोनों तरफ से गोली चली और क्राइम ब्रांच का एक सिपाही सुमंत सिंह घायल हो गया। इसके बाद भी क्राइम ब्रांच की टीम डटी रही और इनामी बदमाश अशोक यादव को पकडऩे में सफलता मिली। अशोक को भी एक गोली लगी थी। क्राइम ब्रांच ने बदमाश के साथी 15 हजार का इनाम घोषित अर्जुन को भी पकड़ा था। बनारस में लगभग दो साल से अधिक समय बाद मुठभेड़ में किसी बदमाश को गोली लगी थी।
यह भी पढ़े:-गणतंत्र दिवस पर आकर्षण का केन्द्र बना बनारस एसएसपी का नन्हा IPS बेटा चीकू भारद्वाज, देखें तस्वीरे

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned