उज्जैन में डाली थी चित्रकूट के डकैत विष्णु ने पहली डकैती

उज्जैन में डाली थी चित्रकूट के डकैत विष्णु ने पहली डकैती
varanasi police arrested mobster

90 के दशक में कूदा था अपराध जगत में, बनारस पुलिस ने ईनामी डकैत को किया गिरफ्तार

वाराणसी. वाराणसी पुलिस ने सोमवार को 12 हजार ईनामी डकैत विष्णु को गिरफ्तार किया है। पुलिस को उसकी कैंट व रोहनिया थाना क्षेत्र में हुई डकैती में तलाश थी। एसपी ग्रामीण के अनुसार रोहनिया थानाध्यक्ष शिवानंद मिश्र को सूचना मिली थी कि विष्णु डकैत ट्रक से वाराणसी आ रहा है किसी वारदात को अंजाम देने। वाराणसी-कोलकाता मार्ग पर वाहनों की चेकिंग के दौरान पुलिस ने एक ट्रक से विष्णु को गिरफ्तार कर लिया। डकैत के पास से 12 बोर का असलहा व दो कारतूस बरामद हुए।  

ट्रक से चलता था गैंग के साथ डकैत

मध्यप्रदेश में उज्जैन के माधवनगर में 1990 में गैंग के साथ पहली डकैती डाली थी चित्रकूट के मानिकपुर निवासी विष्णु ने। डकैती के दौरान मकान मालिक की हत्या भी कर दी थी। इस वारदात में विष्णु को इतने रुपये-जेवरात मिले कि उसने डकैती को ही अपना धंधा बना लिया। पहली डकैती से मन इतना बढ़ गया कि उसके बाद उसका कहर मध्यप्रदेश के विभिन्न इलाकों में बरसने लगा। धीरे-धीरे गैंग में डेढ़ दर्जन से अधिक बदमाश जुड़ गए। डकैत विष्णु ने मध्यप्रदेश के साथ ही उत्तर प्रदेश व देश के अन्य हिस्सों में गैंग के साथ डकैती डालनी शुरू कर दी। पूछताछ में बताया कि वह गैंग के गुर्गों के साथ ट्रक से देश के विभिन्न हिस्सों में घूमता था। जिस इलाके में वह ठहरते थे, वहां की रेकी के बाद घरों में धावा बोलते और माल समेटने के बाद ट्रक पर लादकर गैर जनपद निकल जाते। देश के विभिन्न हिस्सों में विष्णु ने साथियों के साथ मिलकर एक सौ से अधिक डकैतियां डाली थी। बीते वर्ष वाराणसी के कैंट थाना क्षेत्र में भी विष्णु ने साथियों के साथ मिलकर डकैती डाली। रोहनिया में एक साल के भीतर दो बार डकैती डालने वाले विष्णु के कई साथी गिरफ्तार हो चुके हैं। 
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned