भासपा की ललकार हम देंगे जंगीपुर उपचुनाव में सपा को टक्कर

2012 विधानसभा चुनाव में भाजपा व कांग्रेस से अधिक मिले थे वोट, जानिए क्या है समीकरण

वाराणसी. जंगीपुर उपचुनाव में सभी राजनीतिक दलों ने ताल ठोंकना शुरू कर दिया है। भासपा ने भी ललकारा है कि इस उपचुनाव में उनका प्रत्याशी सपा को टक्कर देगा। गाजीपुर के जंगीपुर की सीट सपा विधायक कैलाश यादव की मौत के बाद रिक्त हो गयी थी। यहां पर भारतीय समाज पार्टी (भासपा) ने प्रत्याशी उतराने की तैयारी कर ली है। पार्टी का दावा है कि वर्ष 2012 में हुए विधानसभा चुनाव में उसके प्रत्याशी को बीजेपी से अधिक वोट मिल था।
भासपा से मिली जानकारी के अनुसार जंगीपुर विधानसभा चुनाव में मतदाता के संख्या तीन लाख 44 हजार662 है। मतदाताओं में महिलाओं की संख्या 1 लाख 57 हजार 248 है। भासपा के अनुसार 22 अप्रैल को अधिसूचना जारी होगा। इसके बाद नामांकन प्रक्रिया आरंभ हो जायेगी। 29 अप्रैल तक नामांकन होने के बाद 30 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांंच होगी। दो मई को नाम वापसी की तिथि निर्धारित है इसके बाद चुनाव चिन्ह आवंटित होगा। 16 मई को मतदान व 19 मई को चुनाव परिणाम की घोषणा होगी। 
भासपा प्रत्याशी देगा सपा का टक्कर
भासपा प्रत्याशी ही सपा को टक्कर देगा। परिसीमन के बाद ही जंगीपुर सीट वजूद में आयी थी और 2012 में हएु विधानसभा चुनाव में कैलाश यादव को विजय मिली थी। कैलाश यादव ने यहां पर कुल पड़े एक लाख 85 हजार 773 मतों में से 72 हजार 208 मत प्राप्त किये थे। जबकि द्वितीय स्थान पर बसपा के प्रत्याशी ई.मनीष पांडेय को 62 हजार 744 मत मिले थे। भासपा के योगेन्द्र सिंह को तृतीय स्थान पर थे और उन्हें 21 हजार 550 वोट मिले थे। इसके बाद भाजपा के कुंवर रमेश सिंह को दस हजार व कांग्रेस के शैलेश सिंह को सात हजार 592 वोट मिले थे। भासपा का दावा है कि उनके प्रत्याशी ने पिछले विधानसभा चुनाव में भी अच्छा प्रदर्शन किया था और इस बार के उपचुनाव में अकेले उनका प्रत्याशी ही सपा को सबसे तगड़ी टक्कर देगा।

BJP
Show More
Devesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned