BREAKING नकली नोट के धंधे से जुड़ा भोजपुरी फिल्म उद्योग

BREAKING नकली नोट के धंधे से जुड़ा भोजपुरी फिल्म उद्योग
two arrested with fake currency

नकली नोट की खेप के साथ भोजपुरी फिल्म यूनिट के दो कर्मचारी गिरफ्तार, फिल्म के निर्देशक से पुलिस कर रही पूछताछ, बनारस में चल रही है अपकमिंग मूवी शहंशाह की शूटिंग 

विकास बागी
वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से चौंकाने वाली खबर आ रही है। भोजवुड यानि भोजपुरी फिल्म उद्योग नकली नोट के कारोबार से जुड़ा है। वाराणसी पुलिस और आतंकवाद निरोधक दस्ता को शुरूआती जांच में इसके सुबूत मिले हैं। पुलिस ने नकली नोट की खेप के साथ फिल्म यूनिट के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार यूनिट मेंबर जौनपुर के निवासी हैं। वाराणसी पुलिस के साथ ही आतंकवाद निरोधक दस्ता की स्थानीय यूनिट भी अपने स्तर से जांच-पड़ताल में जुट गई है। सूत्रों के अनुसार फिल्म यूनिट के सदस्यों के पास नकली नोट की जो खेप बरामद हुई वह पश्चिम बंगाल के रास्ते भारत में आई है। 

फल के चक्कर में पकड़ में आया मामला
गौरतलब है कि वाराणसी में इन दिनों भोजपुरी फिल्म शहंशाह की शूटिंग चल रही है। ईमानदार नेता के ऊपर बन रही इस फिल्म में जौनपुर के मूल निवासी व भोजवुड सुपरस्टार रविकिशन है। प्रधानमंत्री मोदी के गोद लिए गांव जयापुर के साथ ही फिल्म की शूटिंग का कुछ हिस्सा इन दिनों सारनाथ के तिलमापुर में शूट किया जा रहा है। स्पॉट बॉय का काम कर रहा जौनपुर का मूल निवासी करन यादव इलाके में मौजूद एक फल के ठेला पर पहुंचा और पांच सौ का नोट देते हुए फल मांगे। नोट नकली प्रतीत होने पर दुकानदार ने फल देने से इंकार कर दिया। करन तब तक दो-तीन नकली नोट आसपास की अन्य दुकानों पर चला चुका था। नोट के नकली होने की जानकारी होने पर दुकानदारों ने पुलिस से संपर्क किया। जांच-पड़ताल के दौरान सारनाथ पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान करन व उसके साथी कमलेश यादव को मय एसयूवी गाड़ी पकड़ लिया। तलाशी में बैग मिला जिसमें नोट भरे थे। जांच में पुलिस ने पाया कि बैग में मौजूद पांच सौ के सभी 79 नोट नकली थे। पूछताछ में करन ने बताया कि उसे नोट कमलेश ने दिए थे। पुलिस ने जब कमलेश से पूछताछ की तो उसने बताया कि उक्त नोट उसे फिल्म के निर्देशक आनंद शर्मा ने दिए थे। मामला संगीन देखकर पुलिस फिल्म के निर्देशक आनंद शर्मा से अज्ञात स्थान पर पूछताछ कर रही है। फिलहाल फिल्म की शूटिंग रोक दी गई है। 

दार्जिलिंग के मूल निवासी हैं फिल्म निर्देशक
ईमानदार नेता को लेकर फिल्म बना रहे आनंद शर्मा स्वयं भ्रष्टाचार के साथ ही देश के साथ गद्दारी के मामले में घिरते नजर आ रहे हैं। फिल्म के सेट पर इतनी संख्या में नकली नोट की मौजूदगी ने आतंकवाद निरोधक सेल के कान खड़े कर दिए हैं। एटीएस अपने स्तर से भोजपुरी फिल्म उद्योग में नकली नोट के खेल को उजागर करने में जुट गई है। सूत्रों के अनुसार आतंकवाद निरोधक दस्ता के पास जो जानकारी हैं उसके मुताबिक आनंद शर्मा दार्जिलिंग के रहने वाले हैं। दार्जिलिंग से पश्चिम बंगाल की राह जुड़ी है। दूसरी तरफ नकली नोट के साथ पकड़े गए दोनों युवक जौनपुर के रहने वाले हैं। एटीएस ने बीते दो वर्षों में पूर्वांचल में नकली नोट को लेकर जितनी भी गिरफ्तारियां की उसके तार कहीं न कहीं जौनुपर से जुड़े थे। 

बड़े-बड़े नाम आ सकते हैं सामने
भोजुपरी फिल्म उद्योग में चल रहे नकली नोट का खेल उजागर होने के बाद तमाम खुफिया व सुरक्षा एजेंसियां सक्रिय हो गई हैं। संभव है कि जांच-पड़ताल में भोजवुड से जुड़े कई बड़े नाम सामने आ सकते हैं। सुरक्षा एजेंसियां मामले की तह में जाने के लिए अपना तंत्र जाल फैला चुकी है। 
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned