बीएचयू मेडिकल की छात्राओं के साथ "मर्द" सुरक्षाकर्मियों ने की मारपीट

बीएचयू मेडिकल की छात्राओं के साथ
bhu medical bhu students assaulted

एक छात्रा अस्पताल में, आधा दर्जन छात्राएं चोटिल, जानिए क्या है पूरा मामला

वाराणसी. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में मंगलवार रात जो घटना हुई बेहद शर्मनाक है। अपनी जायज मांगों को लेकर आइएमएस परिसर में धरना दे रही छात्राओं के साथ वहां के सुरक्षाकर्मियों ने मारपीट की। सुरक्षाकर्मियों द्वारा मेडिकल की छात्राओं के साथ की गई मारपीट के चलते परिसर में भय का माहौल व्याप्त हो गया। लाठियों से लैस सुरक्षाकर्मियों द्वारा किए गए अमानवीय व्यवहार के चलते एक छात्रा अस्पताल में भर्ती है जबकि आधा दर्जन छात्राएं मामूली रूप से चोटिल है। 

साउथ कैंपस से आए थे मेडिकल छात्र
 मीरजापुर जिले के बरकछा स्थित बीएचयू के राजीव गांधी साउथ कैंपस में बैचलर ऑफ नेचुरेपैथी एंड योगा सांइस की कक्षाएं चलती है। छात्राओं के अनुसार साउथ कैंपस बरकछा में प्रैक्टिकल की सुविधा नहीं है साथ ही अन्य दिक्कतें भी हैं। छात्र और छात्राएं कोर्स को वाराणसी के मुख्य परिसर में शिफ्ट करने की मांग को लेकर आइएमएस पहुंचे। आइएमएस के डायरेक्टर वीके शुक्ला सभी मांग पूरी करने को तैयार थे लेकिन कोर्स नहीं। उन्होंने मेडिकल के छात्र-छात्राओं को साउथ कैंपस वापस जाने का आदेश दिया लेकिन छात्राएं वहां से हटने को तैयार नहीं हुईं। छात्राओं का आरोप है कि एनोटामी विभाग की एक महिला प्रोफेसर के कहने पर बीएचयू के पुरूष सुरक्षाकर्मियों ने उनके साथ मारपीट की। लाठियों से लैस सुरक्षाकर्मियों द्वारा की गई धक्कामुक्की में छात्रा प्रियंका राय जमीन पर गिरकर चोटिल हो गई। वंदना, ललिता, अपर्णा एकता और रिचा को मामूली चोट पहुंची है। भय के माहौल के बाद बीएचयू के वरिष्ठ प्रोफेसरों के दखल पर छात्र-छात्राओं को उनकी सभी मांगों को मानने का आश्वासन देकर उन्हें शांत कराया गया। विवि प्रशासन ने रात होने के कारण वाराणसी में जिन छात्राओं का घर था, वहां भेजा गया जबकि अन्य को गेस्ट हाउस में ठहराया गया। 
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned